देश में बढ़ रही हिंसा से हैं परेशान

0

देश में फ़ैल रही हिंसा और अशांति से एक व्यक्ति इतना व्यथित हो गया कि उसने स्वयं को आग लगा ली| इसके माध्यम से उन्होंने शासन-प्रशासन को सन्देश दिया कि देश में फ़ैल रही आग को रोककर शान्ति कि स्थापना करो|

दरअसल यह घटना जयपुर के आम्रपानी चौराहे की है| यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वैशालीनगर के कार्यवाह 45 वर्षीय रघुवीर शरण अग्रवाल ने बीच सड़क पर खुद को आग लगा ली और ‘भारत माता की जय’ नारे लगाते हुए दौड़ने लगे। वे करीब 100 मीटर तक दौड़े। वे 80 प्रतिशत जल गए हैं।

शांति के प्रयास नाकाफी

उन्होंने यह आत्मघाती प्रदर्शन केवल इसलिए किया क्योंकि सारा देश जल रहा है और शांति के प्रयास नाकाफी हैं। रघुवीरशरण ने सोशल मीडिया पर चार दिन पहले एक पत्र भी शेयर किया था। पत्र में लिखा है कि स्वप्न में मैंने भारत माता की वह करुण चीत्कार सुनी और देखा कि चारों तरफ गिद्ध मंडरा रहे हैं। जब हम दूसरों के बहकावे में आ जाते हैं तो चाहे कोई भी हो, उसका स्वयं का विवेक शून्य हो जाता है और तब तक इतना भयंकर नुकसान हो जाता है। भाई से भाई को लड़वाकर अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं।

पहले घर पर फोन भी किया

अग्रवाल जयपुर के वैशाली नगर में क्राउन प्लाजा स्थित फ्लैट में रहते हैं। उनकी नर्सरी सर्किल के पास सी ब्लॉक में किरण मेडिकल्स के नाम से दुकान है। रविवार सुबह पांच बजे वे अकेले ही वॉक के लिए घर से निकले थे। वे आम्रपाली चौराहे पर पहुंचे और पेट्रोल छिड़ककर खुद को आग लगा ली। इससे पहले उन्होंने घर पर फोन भी किया था।

सवाई मानसिंह अस्पताल में पुलिस को दिए बयानों में रघुवीर शरण ने समाज में फैल रही कटुता और वैमनस्यता से परेशान होकर खुद को आग लगाने की बात कही है। हालांकि, पुलिस के मुताबिक, घरेलू परेशानी की बातें भी सामने आ रही हैं।

Share.