हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की बेरहमी से हत्या

0

उत्तर प्रदेश अपराधों का राज्य बनता जा रहा है जहां अपराधी बेख़ौफ़ तरीके से किसी भी अपराध को अंजाम देते हैं। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में अपराधियों को प्रशासन का या कानून व्यवस्था का जरा भी खौफ नहीं है। इसी का एक उदाहरण आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देखने को मिला जहां अपराधियों ने हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही घुसकर हत्या कर दी। जब राज्य की राजधानी में ही इतनी लचर कानून व्यवस्था है जो अपराधियों के हौंसले बुलंद कर रही है तो बाकी शहरों का क्या हाल होगा।

मिली जानकारी के अनुसार बेहद गभीर अवस्था में कमलेश तिवारी को आनन-फानन ही ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। लेकिन ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि लखनऊ के खुर्शीद बाग स्थित हिंदू समाज पार्टी कार्यालय में बदमाश चाय पीने आए थे। बदमाश अपने साथ मिठाई का डिब्बा लिए हुए थे। इस डिब्बे में बदमाश चाक़ू और तमंचा लेकर कार्यालय में दाखिल हुए थे। वहीं तिवारी पर जानलेवा हमला कर आरोपी वहां से फरार हो गए। पुलिस ने घटना स्थल से तमंचा और कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस की टीम नेता कमलेश तिवारी के मोबाइल की डिटेल खंगाल रही है और सर्विलांस की सहायता से हत्यारों का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

वहीं जब कमलेश तिवारी को ट्रामा सेंटर ले जाया गया तब उनके गले पर बेहद गहरी चोट का निशान था। ऐसा कहा जा रहा है कि हत्यारों ने कमलेश तिवारी को गोली मारकर उनका गला भी रेता। बड़ी ही बेरहमी के साथ हत्यारों ने नेता कमलेश तिवारी का गला रेत दिया। इसके बाद तिवारी को मृत समझ अपराधी फरार हो गए। हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी का गला रेतने के लिए अपराधियों ने तेजधार वाले हथियार का सहारा लिया। गौरतलब है कि दिसंबर 2015 में कमलेश तिवारी ने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान दिया था। उनके इस विवादित बयान पर काफी हंगामा भी मचा था और उन्हें इस बयान के लिए गिरफ्तार भी कर लिया गया था। फिलहाल कमलेश जमानत पर बाहर चल रहे थे।

Prabhat Jain

Share.