website counter widget

Video : ट्रेन में मारपीट, पुलिसकर्मी ने युवती को पीटा

0

कई बार ट्रेन में सीट को लेकर विवाद हो जाता है और नौबत हाथापाई तक भी पहुंच जाती है। लेकिन मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर उस वक़्त हड़कंप मच गया जब चलती ट्रेन से पुलिस कंट्रोल रूम को एक युवती के साथ पुलिसकर्मी द्वारा मारपीट किए जाने की सूचना मिली। यह सूचना किसी और ने नहीं बल्कि खुद युवती ने कॉल कर दी। उसने पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल किया और सूचना दी कि उसके साथ एक पुलिसकर्मी ने मारपीट की है। युवती ने आगे बताया कि मारपीट करने वाला पुलिसकर्मी सुहेलदेव एक्सप्रेस के एसी कोच में सवार है। सुहेलदेव एक्सप्रेस दिल्ली के आनंद विहार से उत्तर प्रदेश के गाजीपुर स्टेशन के बीच चलती है।

एक्शन में मोदी सरकार, 15 भ्रष्ट अधिकारियों की कर दी छुट्टी

जैसे ही युवती ने कंट्रोल रूम को सूचना दी वैसे ही कंट्रोल रूम ने राजकीय रेलवे पुलिस आरपीएफ कमांडेंट को मुरादाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक की घेराबंदी करने के निर्देश दे दिए। इसके बाद मुरादाबाद स्टेशन पर हड़कंप मच गया। जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर रुकी तब आरपीएफ (RPF) ने तत्काल ही आरोपी पुलिसकर्मी को हिरासत में लेकर ट्रेन से उतार लिया। मिली जानकारी के अनुसार सुहेलदेव एक्सप्रेस के कोच नंबर 7 में युवती यात्रा कर रही थी।

उसी दौरान एक युवक के साथ उसका सीट को लेकर विवाद हो गया है। आरोपी युवक का नाम शहजाद अली बताया गया है। युवती ने अपनी शिकायत में कहा कि शहजाद अली ने पहले तो सीट पर अपना सामान रख दिया जब युवती ने उसका विरोध किया तो वह उसके साथ मारपीट करने लगा। युवती ने शहजाद पर आरोप लगते हुए कहा कि उसने युवती का गला दबाते हुए धमकी दी कि वह उसे जानते है, वह यूपी पुलिस में है।

Video : कार्यकर्ताओं ने नेताओं को जमकर धुना, फाड़े कपड़े

इसके बाद मुरादाबाद रेलवे पुलिस आरोपी युवक और पीड़िता को लेकर जीआरपी (GRP) थाने पहुंचे। लेकिन जब पुलिस ने पूछताछ की मामला पूरी तरह से उल्टा निकला। जैसा की युवती ने बताया कि सीट को लेकर हुए इस विवाद में आरोपी युवक ने उसके साथ मारपीट की। इस बारे में जब पुलिस ने बोगी में सवार अन्य लोगों से पूछताछ की तो सभी ने युवती की ही गलती बताई। सभी यात्रियों ने हिरासत में लिए गए पुलिसकर्मी को बेक़सूर बताया और कहा कि उसकी कोई गलती नहीं है। विवाद और मारपीट युवती ने ही शुरू की थी। वहीं युवती पुलिस के सामने रोने लगी और अपने साथ हुई मारपीट की घटना का बखान करते हुए आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगी।

Huda City Metro Station : मेट्रो स्टेशन पर महिला के सामने हस्तमैथुन, मामला दर्ज

लेकिन जब पुलिस ने अन्य यात्रियों के बयान लिए तब युवती के परिजनों ने युवती को समझाया और उसने रिपोर्ट दर्ज करवाने का विचार त्याग दिया। इसके बड़ा युवती ने समझौता नामा लिखकर पुलिस को सौंपा। समझौता नामा दिए जाने के बाद पुलिस ने हिरासत में लिए गए पुलिसकर्मी को बिना किसी कानूनी कार्रवाई के रिहा कर दिया और गाजीपुर जाने दिया।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.