टुकड़ों में मिली सूटकेस के अंदर लड़की की लाश, मुंबई में सनसनी

0

मुंबई के ठाणे शहर से एक बेहद ही दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक शख्स ने अपनी ही बेटी की हत्या कर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर दिए। अपनी लड़की की लाश के टुकड़ों को ठिकाने के लिए जब वह निकला तो लाश की बदबू ने सारा राज खोल डाला और हत्यारा पिता आ गया पुलिस की गिरफ्त में। इस हत्या का खुलासा पुलिस की वजह से नहीं बल्कि एक ऑटो चालक की वजह से हुआ। ऑटो चालक के शक ने एक हत्यारे बाप को उसके गुनाह की सजा दिलवा दी।

इस जेल में होगी निर्भया के हत्यारों को फांसी, हो गई तैयारी!

दरअसल उत्तर प्रदेश के जौनपुर का 47 वर्षीय निवासी अरविंद काम के सिलसिले में पिछले कई वर्षों में पुणे के तितवाला इलाके में निवासरत था। यहां अरविंद अकेला रखकर नौकरी कर रहा था। जबकि उसके परिवार में उसकी पत्नी और चार बेटियां हैं जो जौनपुर में रहती थीं। तकरीबन 4 माह पूर्व अरविंद की 22 वर्षीय बड़ी बेटी ने अपना ग्रेजुएशन पूरा कर परिवार की मदद करने की सोची और आ गई पुणे अपने पिता के पास। अपने परिवार की मदद का सपना लिए पुणे आई प्रिंसी को एक प्राइवेट फार्म में अच्छी खासी जॉब भी मिल गई। हालांकि जॉब करते-करते प्रिंसी की मुलाक़ात एक लड़के से हुई और दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई। जब इस बात का पता प्रिंसी के पिता अरविंद को चला तो उसने प्रिंसी को धमकाया।

कांग्रेस का हाथ छोडकर सिंधिया आए बीजेपी के साथ!

अरविंद अपनी बेटी के अफेयर से काफी नाराज था क्योंकि उसे लगता था कि उसके लव-मैरिज करने से उसकी और उसके परिवार की काफी बदनामी होगी। प्रिंसी के अलावा उसकी तीन और बेटियां है तो उनकी शादी में भी अड़चन पैदा होगी। इस वजह से अरविंद की अपने बेटी प्रिंसी से कई बार बहस भी हुई। अरविंद ने कई बार प्रिंसी को डराया और धमकाया लेकिन जब प्रिंसी ने अरविंद की एक न सुनी और लड़के से रिश्ता बरकरार रखा तो अरविंद ने ये खौफनाक कदम उठाया। इसके बाद बेटी की लाश को ठिकाने लगाने के लिए अरविंद पहले तो प्रिंसी के लाश के छोटे-छोटे टुकड़े किए और सूटकेश में भरकर निकल पड़ा। लेकिन जब अरविंद सूटकेस लेकर एक ऑटो में बैठा तो सूटकेस से आ रही बेहद तेज बदबू की वजह से ऑटो चालक को शक हो गया। ऑटो चालक ने जब अरविंद से पूछा कि सूटकेश में क्या है और ये तेज बदबू कैसी? तो अरविंद पकड़े जाने के डर से भाग निकला।

कैलाश विजयवर्गीय के हाथ बंगाल की कमान, BJP में TMC के मंत्री

जब ऑटो चालाक ने सूटकेस खोला तो उसकी जान गले में अटक गई। उसने तत्काल पुलिस को सूचना दी। अब पुलिस अरविंद को पकड़े कैसे? इसके बाद पुलिस ने ठाणे स्टेशन के पास लगे CCTV फुटेज और अन्य जगह के CCTV फुटेज खंगाले जिसमें अरविंद की तस्वीर बरामद हुईं। इसके बाद तस्वीर के आधार पर पूछताछ करते हुए पुलिस अरविंद तक पहुंची और उसे हिरासत में लिया। पुलिस के मुताबिक़ अरविंद ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। हालांकि सूटकेस में लड़की के निचले भाग के ही हिस्से थे बाकी के टुकड़ों का पता लगाया जा रहा है।

Prabhat Jain

Share.