ढाबे वाले की बेटी को चार करोड़ की स्कॉलरशिप

0

बात जब विदेशों से स्कॉलरशिप मिलने की आती है तो उनमें बड़े शहरों में रहने वाले तथा कॉन्वेंट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के नाम आते हैं, परंतु इस बार एक छोटे से गांव में रहने वाली तथा वहां छोटा सा ढाबा चलाने वाले की बेटी सुदीक्षा भाटी को अमरीका के एक प्रतिष्ठित कॉलेज ने चार करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप दी है|

दरअसल, सुदीक्षा उप्र के गौतमबुद्ध नगर स्थित दादरी के धूम मानिकपुर गांव में रहती हैं|  पिता जितेंद्र भाटी गांव में छोटा सा ढाबा चलाते हैं और उसकी मां गीता भाटी गृहिणी हैं। शिव नाडर फाउंडेशन द्वारा बुलंदशहर में विद्या ज्ञान लीडरशिप एकेडमी का संचालन किया जाता है, जहां गरीब परिवार के बच्चों को निशुल्क शिक्षा दी जाती है| चूंकि सुदीक्षा एक गरीब परिवार से आती है तो इस संस्थान में दाखिल होने के लिए उसने परीक्षा दी और 2011 में उसका चयन वहां के लिए हुआ था। हाल ही में आए परीक्षा परिणाम में सुदीक्षा ने 98 फीसदी अंक हासिल किए ।

स्कूल की तरफ से स्कॉलरशिप के लिए अमरीका में आवेदन किया गया था और अमेरिका के प्रसिद्ध बॉबसन कॉलेज से चार करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप मिल गई।

सुदीक्षा का कहना है कि उसका सपना सच हो गया।  इतनी बड़ी स्कॉलरशिप मिलने से सुदीक्षा के परिवार और गांव के लोगों में खुशी है। अब वह चार वर्षीय इंटरप्रीन्योरशिप बिजनेस कोर्स के लिए अगस्त में अमरीका रवाना होगी|

Share.