बाप के लिए बेटे से कीमती था मुर्गा

0

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई में एक मुर्गे के अपहरण की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज करवाई गई है। भिलाई के सेक्टर-1 में रहने वाले छोटेलाल ने थाने में शिकायत दर्ज करवाई है कि मुर्गा उसके कलेजे का टुकड़ा था, उसे देखकर ही वह जिन्दा रहता था। छोटेलाल ने अपने सगे बेटे शंभू पर आरोप लगाया है।

छोटेलाल के मुताबिक, उन दोनों का प्यार इतना अटूट था कि मुर्गा इंसानी भाषा समझने लगा था। उसने बड़े लाड़-प्यार से मुर्गे को पाला था, लेकिन उसका शराबी बेटा घर से 5 हजार रुपए और जिगर के टुकड़े मुर्गे को लेकर फरार हो गया।

छोटेलाल ने अपने सगे बेटे शंभू पर मुर्गे के अपहरण का आरोप लगाते हुए उसकी गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने पुलिस से कहा कि उसे पैसे नहीं चाहिए, उसे सिर्फ उसका मुर्गा वापस चाहिए।

Share.