दो साध्वियों से दुष्कर्म का मामला

0

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में दो साध्वियों के साथ गैंगरेप के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल हफ्तेभर पहले दो साध्वियों ने खुद को गैंगरेप पीड़िता बताकर मुख्यमंत्री रमनसिंह से न्याय की मांग की थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने गैंगरेप का मामला दर्ज करने के निर्देश पुलिस को दिए थे। घटना के करीब साढ़े तीन महीने बाद पुलिस ने आठ आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज कर उनकी जांच शुरू की, लेकिन जांच के बाद पुलिस के सामने जो सच आया| उसके पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई।

जांच में पता चला कि यह गैंगरेप का मामला फर्जी है। दरअसल, बाबा सच्चिदानंद के खिलाफ आरोपी दिलचंद की बेटी ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। यह प्रकरण उत्तरप्रदेश के बस्ती जिले में दर्ज किया गया था। बिलासपुर के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बाबा सच्चिदानंद ने उनके खिलाफ दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज कराने वाली पीड़ित लड़की के पिता दिलचंद पटेल को दुष्कर्म के मामले में झूठा फंसाने के लिएअपनी दोनों साध्वियों को निर्देश दिए थे।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने गैंगरेप की घटना की तीन माह से भी ज्यादा समय तक विवेचना की, लेकिन पीड़ित साध्वियों के बयान, घटना के साक्ष्य, पीड़िता और आरोपियों की आवाजाही के प्रमाण कुछ भी स्थापित नहीं हो पाए।  उन्होंने आगे बताया कि पीड़िता और आरोपियों से हुई पूछताछ के बाद दोनों ही साध्वियों ने 164 के बयान में झूठी रिपोर्ट लिखवाना स्वीकार कर लिया है।

Share.