भाजपा सांसद ने किया रानी दुर्गावती का अपमान

0

भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद फग्गनसिंह कुलस्ते को समाज से बहिष्कृत करने की चेतावनी दी गई है। आदिवासी समाज के नेता फग्गनसिंह को समाज के ही कुछ लोगों ने उन्हें बहिष्कृत करने की बात कही है। हालांकि समाज से बहिष्कृत किए जाने पर नेता ने साफ शब्दों में कहा है कि किसी के पास अधिकार नहीं है कि उन्हें समाज से निकाल दे।

दरअसल, गोंडवाना समाज के लोगों ने जिला प्रशासन से जबलपुर के गुलौआ ताल में रानी दुर्गावती की प्रतिमा स्थापित करने की मांग की थी, लेकिन नगर निगम ने श्यामाप्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा स्थापित कर दी। इसके विरोध में गोंडवाना समाज के लोग एक सप्ताह से हड़ताल पर बैठे हैं। कुलस्ते शनिवार को लोगों से मिलने और अनशन समाप्त करवाने के लिए पहुंचे थे, लेकिन वहां उन्होंने रानी दुर्गावती के अस्तित्व पर ही निशाना खड़ा कर दिया।

उन्होंने कहा कि तालाब में एक मूर्ति पहले से ही लग चुकी है, अब दूसरी मूर्ति कैसे लग सकती है। जब उनसे कहा गया कि गलौआ ताल रानी दुर्गावती की विरासत है तो कुलस्ते ने कहा कि कैसी विरासत और किसकी विरासत है। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने कुलस्ते का जमकर विरोध किया। इस घटना के बाद गोंडवाना समाज के लोगों ने कुलस्ते को समाज से बहिष्कृत करने की चेतावनी दी है।

Share.