ओवैसी की पार्टी AIMIM  की बिहार में  धमाकेदार एंट्री

0

किशनगंज: बिहार विधानसभा उपचुनाव (Bihar Assembly By-Polls Election Results 2019) में किशनगंज (Kishanganj) विधानसभा सीट पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के कमरुल होदा (Kamrul Hoda) ने भारतीय जनता पार्टी की स्वीटी सिंह को 10,211 मतों के अंतर से हरा दिया है. AIMIM के कमरुल होदा को 70469 वोट मिले हैं, जबकि दूसरे नंबर पर बीजेपी की स्वीटी सिंह को 60,258 मत मिले. वहीं तीसरे नंबर पर कांग्रेस की सईदा बानो रही हैं. यह पहली बार है जब बिहार में AIMIM ने खाता खोला है. माना जा रहा है कि यह सीमांचल (Seemanchal) की राजनीति में बड़े उलटफेर के संकेत हैं. जाहिर है, इस राजनीतिक परिवर्तन के सबसे पहले ध्वजवाहक भी AIMIM के कमरुल होदा हैं.

AIMIM के कमरुल होदा का राजनीतिक सफर ग्राम पंचायत स्तर से शुरू होता है और फिलहाल बिहार विधानसभा तक पहुंचा है. सबसे पहले वे वर्ष 2001 में किशनगंज ब्लॉक के ट्योशा पंचायत से मुखिया बने और राजनीतिक जीवन की शुरुआत की. अगले पंचायत चुनाव में किशनगंज ब्लॉक के प्रमुख बने और फिर तीसरे पंचायत चुनाव जिला परिषद में चुनाव जीतने के बाद जिला परिषद अध्यक्ष भी बने. उन्होंने हाल ही में AIMIM  ज्वॉइन की और 10 हजार से अधिक मतों से जीत हासिल कर बिहार का पहले AIMIM विधायक बनने का गौरव हासिल किया. AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने इस जीत को पार्टी की लगातार मेहनत का नतीजा बताया है. उन्होंने कहा कि ये जनादेश वंशवाद के खिलाफ है. हम इस जनादेश के मिलने के बाद लगातार सीमांचल में काम करेंगे. जो वादे किए हैं उन्हें पूरा करेंगे.

जानकारी के अनुसार कि समस्तीपुर लोकसभा और विधानसभा की पांच सीटों- किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के मतदाताओं ने 21 अक्टूबर को मतदान किया था. इस उपचुनाव को अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है.

 

-Mradul tripathi

 

Share.