दुष्कर्मी प्रिंसिपल, शिक्षक और छात्र गिरफ्तार

0

स्कूल विद्या का मंदिर कहलाता है, जहां शिक्षक जीवन जीने के मूल्यों के साथ ही कई विषयों का ज्ञान देते हैं| क्या आप सोच सकते हैं कि मंदिर से बाद सबसे पवित्र माना जाने वाला विद्या का मंदिर भी दुष्कर्मियों का अड्डा बन सकता है? जीवन के मूल्य सिखाने वाले शिक्षक ही मानवता को शर्मसार कर सकते हैं?

मानवता को शर्मसार करने वाली ऐसी ही एक घटना बिहार के सारण में घटी| यहां कक्षा 10वीं की मासूम छात्रा के साथ उसी के स्कूल के प्रिंसिपल, दो शिक्षक और 15 छात्रों ने दुष्कर्म किया| छात्रा ने बताया कि सबसे पहले दिसंबर महीने में छात्रों ने उसके साथ हैवानियत की थी और उसका वीडियो बना लिया था, जब इस बात की शिकायत प्रिंसिपल से की तो उन्होंने कार्रवाई करने के बजाय दो शिक्षकों के साथ मिलकर दुष्कर्म किया| इसके बाद उन्होंने ने भी छात्रों का साथ दिया और छात्रा की मज़बूरी का कई बार फायदा उठाया|

छात्रा ने बताया कि वह शुक्रवार को पुलिस के पास गई क्योंकि उसके पिता कुछ महीनों से जेल में थे और इसी बात का सभी लोगों ने फायदा उठाया और वीडियो के नाम पर कई बार हैवानियत की|

सारण एसपी हरकिशोर राय ने कहा कि पीड़िता ने 18 लोगों के नाम बताए, जिनमें 15 छात्र हैं| पुलिस ने शुक्रवार को 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जिनमें प्रिंसिपल और एक शिक्षक समेत दो छात्र शामिल हैं| फिलहाल बाकी के आरोपियों की तलाश की जा रही है|

Share.