Video : इंदौर, सतना के बाद अब झांसी में भाजपा नेता की गुंडागर्दी

0

लगतार दूसरी बार लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की गुंडागर्दी काफी बढ़ती जा रही है। सत्ता के नशे में चूर नेता सारी हदें पार कर रहे हैं। अभी हाल ही में मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में भाजपा विधायक और भाजपा महासचिव कैलाश विजय वर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय के बल्लाकांड के बाद सतना में भाजपा का डंडाकांड देखने को मिला था। सतना में जहां भाजपा नगर परिषद के अध्यक्ष ने नगर परिषद के सीएमओ का सिर्फ फोड़ दिया था। वहीं ऐसे में अब उत्तर प्रदेश के झांसी से भाजपा नेता की गुंडागर्दी का एक और मामला सामने आया है।

आकाश के बाद कैलाश विजयवर्गीय का निगम पर हमला

उत्तर प्रदेश के झांसी से भारतीय जनता पार्टी के विधायक और कद्दावर नेता रवींद्र शुक्ल (Ravindra Shukla) की गुंडागर्दी का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि भाजपा नेता पंडित रविंद्र शुक्ल किस तरह एक बुजुर्ग को धक्का दे रहे हैं और फिर उसे मार रहे हैं। बताया जा रहा है कि भाजपा नेता रवींद्र शुक्ल (Ravindra Shukla) की उनके पड़ोस में ही रहने वाले कुशवाहा परिवार से जमीन के एक विवाद को लेकर तनातनी चल रही थी। इसी मामले को सुलझाने के लिए रविंद्र शुल्क बुजुर्ग और उसके परिवार से बात करने पहुंचे थे। बहस बढ़ जाने पर रविंद्र शुक्ल ने बुजुर्ग को धक्का दे दिया जिससे वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद रविंद्र ने बुजुर्ग को मारा तभी लोगों ने बीच-बचाव कर स्थिति को संभाला।

दुबई के शेख को पत्नी ने लगाया चूना, बच्चों को लेकर भागी  

इस मामले में रविंद्र शुक्ल के बेटे निशांत शुक्ला (Nishant Shukla) का आरोप है कि बहस के दौरान वहां मौजूद कुछ लोगों ने रविंद्र शुक्ल के साथ बदतमीजी की। इसी वजह से रविंद्र शुक्ल ने किसी को धक्का मार दिया था। फिलहाल इस मामले की शिकायत किसी भी पक्ष द्वारा नहीं की गई। गौरतलब है कि रविंद्र शुक्ल भारतीय जनता पार्टी की कल्याण सिंह सरकार में शिक्षा राज्य मंत्री रह चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता की गुंडागर्दी का यह हाल ही का तीसरा मामला है। इससे पहले मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में एक नगर निगम अधिकारी को भाजपा विधायक और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय ने क्रिकेट बेट से मारा था। जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई थी। आज आकाश विजयवर्गीय को जमानत दे दी गई है।

मैं राम मंदिर के मुद्दे पर बोलना कभी नहीं छोड़ सकता-स्वामी

Share.