आदित्य बोले मुझे किसानों की चिंता, किसान बोला मुझे मुख्यमंत्री बनाओ

0

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना (Shiv Sena) में घमसान जारी है। शिवसेना 50-50 के फॉमूले की मांग कर रही है तो वही भाजपा एकतरफा राज करना चाहती है। इसी बीच गुरुवार शाम आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) पार्टी के सभी विधायकों के साथ गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी से मिले. आदित्य ठाकरे के साथ पार्टी विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) और सीनियर पार्टी लीडर रामदास कदम भी थे. राज्यपाल से मुलाक़ात के बाद आदित्य ने साफतौर पर कहा है की ये मुलाकात सरकार बनाने के लिए नहीं थी। सरकार बनाने से जुड़ा कोई भी फैसला उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ही करेंगे। इस मुलाकत के बाद शिवसेना विधायकों और आदित्य थे ने बातचीत में कहा की वे सिर्फ किसानों के मुद्दे को लेकर बात करने के लिए राज्यपाल से मुलाक़ात करने आए हैं. शिवसेना विधायक दल ने किसानों के मुद्दों और राज्य में सूखे की स्थिति को लेकर राज्यपाल को एक पत्र भी सौंपा।

राजधानी  दिल्ली में आपातकाल घोषित!

शिवसेना (Shiv Sena) के विधायकों ने और आदित्य ठाकरे (Shiv Sena) ने जहाँ किसानो की स्थिति पर चिंता जताई है वही महाराष्ट्र के एक किसान ने भी मुख्यमंत्री पद को लेकर चिंता जताई है। जी हां जिस प्रकार शिवसेना विधायक दल ने किसानों के मुद्दों और राज्य में सूखे की स्थिति को लेकर राज्यपाल को एक पत्र भी सौंपा। ठीक उसी तर्ज में महाराष्ट्र के एक किसान ने भी एक पत्र में मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जाहिर की है और कलेक्टर को सौंपा है।

महाराष्ट्र के महासंग्राम पर दिग्विजय का बड़ा बयान

जानकारी के अनुसार ये किसान बीड जिले के केज तालुका के वडमौली निवासी है जिसका नाम श्रीकांत विष्‍णु गडाले है किसान ने पत्र में कहा है की एक तरफ किसानों की समस्याएं खत्म नहीं हो रही हैं, प्राकृतिक आपदाओं के चलते फसलों को नुकसान हुआ है. कुछ इलाकों में फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई है. ऐसे में किसान कर्ज के बोझ तले दब गया है दूसरी तरफ शिवसेना और बीजेपी मुख्यमंत्री पद का मुद्दा नहीं सुलझा पा रहे हैं. किसान ने आगे कहा शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी सीएम पद का मुद्दा नहीं सुलझा पा रहे हैं तो इस मसले के खत्म होने तक राज्यपाल मुझे सीएम बना दें. मैं किसानों की समस्या हल करूंगा और उन्हें न्याय दिलवा कर रहूंगा.

आज से इतना महंगा हुआ गैस सिलेंडर, आम आदमी को झटका

-Mradul tripathi

Share.