website counter widget

सेप्टिक टैंक साफ करने उतरे 7 सफाई कर्मचारियों की….

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छता मिशन को पूरे देश में लागू करवाने का लक्ष्य साल 2019 का है, लेकिन इस मिशन के तहत दी जाने वाली सुविधाएं आज भी कम ही हैं। हाल ही में, गुजरात राज्य में सफाई कर्मचारियों की बड़ी संख्या में मौत हो गई। दरअसल, गुजरात के वड़ोदरा ज़िले के पास फरटिकुई गांव स्थित है। वहां 7 सफाई कर्मचारी एक होटल का गटर (7 workers death to clear septic tank)  साफ करने उतरे, लेकिन ऑक्सीजन की कमी होने के कारण उनकी दम घुटने से मौत हो गई।

हार पर कांग्रेस की मंथन बैठक, कई दिग्गज नदारद

हादसा शुक्रवार की रात का है, जब गटर और उससे जुड़े कुएं की सफाई करने पहले चार सफाईकर्मी (7 workers death to clear septic tank) उतरे, उसके बाद उनका दम घुटने लगा तो उनकी मदद करने 3 कर्मचारी और उतरे, लेकिन सातों में से एक भी कर्मचारी बाहर न आ सका और सेप्टिक टैंक में ही उनकी मौत हो गई। घटना होने के कुछ समय बाद ही पुलिस होटल पहुंची। बाद में पुलिस ने बताया कि 7 मृतकों में 3 उसी होटल में काम करते थे। होटल के मालिक का नाम हसन अब्बास बताया जा रहा है।

सूत्रों से हवाले से यह पता चला कि होटल मालिक हसन घटना के बाद से ही फरार है। उसने होटल में भी ताला लगा दिया है। हादसे में मृतक सफाईकर्मियों (7 workers death to clear septic tank) में एक पिता-पुत्र की जोड़ी भी है। फिलहाल, इस बात की जांच की जा रही है कि कर्मचारियों की मौत गटर लाइन में बनी गैस से दम घुटने के कारण हुई है या फिर डूबने से हुई है।

पत्नी ने तांत्रिक से नहीं बनाया संबंध तो गुस्साए पति ने मार डाला

मृतकों की पहचान 23 वर्षीय हितेश हरिजन और 45 वर्षीय हितेश के पिता अशोक हरिजन, 25 वर्षीय महेश हरिजन तथा 46 वर्षीय महेश पाटनवाडिया तथा होटल के तीन कर्मियों 24 वर्षीय अजय वसावा और विजय चौधरी और शहदेव वसावा 22 वर्षीय के रूप में हुई है। जब यह सातों कर्मी बाहर (7 workers death to clear septic tank) नहीं आए तो स्थानीय पुलिस को सूचना दी गई। नगर में ज़रूरी उपकरण नहीं होने के कारण वडोदरा दमकल विभाग से मदद मांगी गई।

कमलनाथ और सिंधिया की दिल्ली में मौजूदगी, बढ़ी हलचल

फायर ऑफिसर निकुंज आज़ाद ने बताया, “टैंक के अंदर गैस का प्रेशर बहुत ज्यादा था, जिस कारण सभी सातों (7 workers death to clear septic tank) की मौत हो गई, लेकिन हमने उनके शव निकाल लिए हैं ।“ शव निकलने के बाद वडोदरा नगर निगम की गाड़ी ने टैंक को साफ किया।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.