35 किसानों ने मांगी इच्छामृत्यु

0

देश में किसानों के हालात दिन-प्रतिदिन बिगड़ते ही जा रहे हैं| एक तरफ महंगाई तेजी से बढ़ रही है वहीं दूसरी ओर किसानों पर कर्ज भी बढ़ता जा रहा है| उनके खाने-पीने की भी व्यवस्था नहीं हो पा रही है| सूखा, कर्ज, गरीबी, भुखमरी जैसी समस्याओं के कारण किसान या तो आत्महत्या कर रहे हैं या फिर इच्छामृत्यु की मांग कर रहे हैं|

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की ग्राम पंचायत रिगवार के 35 किसानों ने भी भुखमरी जैसी समस्याओं से परेशान होकर कलेक्टर पी.दयानंद और कोटा एसडीएम कीर्तिमान सिंह राठौर से इच्छामृत्यु की मांग की है| किसानों ने शासन पर आरोप लगाया है कि जल संसाधन विभाग ने नहर निर्माण के लिए उनकी जमीन तो ले ली, पर एक दशक बाद भी जमीन का मुआवजा नहीं दिया गया| अब किसान भुखमरी का सामना कर रहे हैं|

गौरतलब है कि रिगवार में नहर निर्माण के लिए जल संसाधन विभाग के अफसरों ने किसानों से वादे किए थे कि प्राथमिकता के आधार पर उन्हें सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी| इसी आश्वासन के तहत किसानों ने अपनी कृषि भूमि के अलावा खलिहान और अन्य जमीन भी अफसरों को सौंप दी थी|

किसान अपनी समस्याओं को लेकर कई बार प्रशासन से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन उनकी किसी भी प्रकार की कोई सहायता नहीं की गई| अब किसानों की इच्छामृत्यु की मांग के बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया है| जांच के आदेश दिए जा चुके हैं|

Share.