Building Collapses In Ahmedabad : शिक्षक दिवस पर दो भीषण हादसों में गई लोगों की जान

0

देश भर में आज शिक्षक दिवस मनाया जा रहा है। शिक्षक दिवस के मौके पर सभी अपने-अपने शिक्षकों को, गुरुओं को, बॉस को तरह-तरह के गिफ्ट यानी कि तोहफे देते हैं। लेकिन आज शिक्षक दिवस के मौके पर एक नहीं बल्कि दो जगह इमारतों के ढह जाने से कई लोग इसके मलबे में दब गए। दरअसल पहला मामला गुजरात के अहमदाबाद से सामने आया है जहां के अमराईवाड़ी इलाके में तीन मंजिला ईमारत ढह गई। अचानक इमारत के गिर जाने से 4 लोगों की मौत हो गई। फिलहाल राहत व बचाव कार्य जारी है। जिस वक़्त यह इमारत हादसे का शिकार हुई उस वक़्त इसमें 9 लोग मौजूद थे। यह इमारत 30 साल पुरानी बताई जा रही है।

नए ट्रैफिक नियमों का Social Media पर यूं उड़ा मज़ाक, Funny Memes Viral

इमारत ढह जाने का एक और मामला बरेली के नवाबगंज से भी सामने आया है जहां एक निर्माणाधीन मकान का लेंटर गिर गया। शिक्षक दिवस के मौके पर निर्माणाधीन भवन का लेंटर गिर जाने से 28 मजदूर उसके नीचे दब गए। इस हादसे में कई लोग घायल हो गए हैं जिन्हें इलाज के लिए सीएससी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। मिली जानकारी के अनुसार नवाबगंज के क्योलड़िया स्थित लियाकत अली के निर्माणाधीन मकान में लेंटर का कार्य किया जा रहा था और उसमे मजदूर काम कर रहे थे। इसी दौरान अचानक लेंटर गिर गया। लेंटर के गिर जाने से यहां काम करने वाले 28 मजदूर मकान के मलबे में दब गए।

लोगों में कानून का डर तो होना ही चाहिए: गडकरी

जैसे ही निर्माणाधीन मकान का लेंटर गिरा तो इसकी सूचना तत्काल ही पुलिस को और फायर डिपार्टमेंट को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंच गई। राहत एवं बचाव का कार्य तत्काल ही शुरू किया और मकान के मलबे में से 5 मजदूरों को बाहर निकाला गया। फिलहाल अन्य कई मजदूर मलबे में दबे हुए हैं जिन्हे निकालने का प्रयास किया जा रहा है। बचाव दल लेंटर काट कर मजदूरों को मलबे से बाहर निकालने का प्रयास कर रहा है। वहीं घायल मजदूरों को तत्काल ही अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया है। बचाव कार्य में प्रशासन और ग्रामीण जुटे हुए हैं।

नंबर प्लेट पर जाट लिखना पड़ा भारी, कटा 35 हजार का चालान

Prabhat

Share.