फिर एक टीचर हैवानियत की शिकार

0

निर्भया (Nirbhaya Gang Rape Case And Murder) के हत्यारों की तारीख तय हो गई है  (22 Year Old Raped Chhattisgarh) और इस बार लगभग तय है की चारो आरोपी (Nirbhaya Convicts) पवन (Pawan), मुकेश (Mukesh), अक्षय (Akshay) और विनय (Vinay) इन सबको फांसी (Nirbhaya Convicts Hanging Delayed) हो ही जाएगी और मिल जाएगा न्याय एक मां को जो 7 सालों से न्याय के लिए अदालतों के चक्कर लगा रही है। इन्साफ मिलेगा निर्भया को जिसके साथ इंसान के रूप में जानवरों जैसा व्यवहार करने वाले भेड़ियों को कानून उनके अंजाम तक पहुंचा देगा। इतना ही नहीं प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy Gang Rape And Murder) की मदद के बहाने उसके साथ पहले बलात्कार फिर हत्या और इन सबके बाद कोई लाश को पहचान ना सके इसके लिए उसकी लाश पर पेट्रोल डालकर आग लगाने वालो को पुलिस एनकाउंटर (Hyderabad Police Encounter) में मौत के घाट उतार दिया गया। अब ये एनकाउंटर (Police Encounter) अचानक हुआ या पुलिस द्वारा सुनियोजित योजना के अनुसार, ये एक अलग मुद्दा है लेकिन लोगो ने इसके लिए पुलिस को धन्यवाद दिया साथ ही साथ बलात्कारियों (rapists) को सीधे गोली मार देने या फांसी पर लटका देने की बात कही। लेकिन प्रश्न ये हैं क्या इन सब के बाद देश के अंदर देश की बहुएं, बहनें, बेटियां सुरक्षित हुई ? क्या देश में दिन दुगने रात चौगने बढ़ रहे बलात्कारों पर अंकुश लगा? इसका सिर्फ एक जवाब है और वो है नहीं। कोई भी अखबार कोई भी न्यूज़ चैनल खोल लीजिये हर दिन हर घंटे आपको बलात्कार की एक ना एक खबर आपको मिल ही जाएगी। जितना कानून सख्त होता जा रहा है समाज का रूप भी उतना ही विकृत होता जा रहा है। बलात्कार करना उसका वीडियो भी बना देना। ये तो अब आम बात हो गई है।

Nirbhaya Case: पवन जल्लाद ने कहा निर्भया के दोषियों को चौराहे पर होनी चाहिए फांसी

ताज़ा मामला छत्तीसगढ़ (22 Year Old Raped Chhattisgarh) का कवर्धा (Kawardha of Chhattisgarh) का है जहा से बलात्कार का मामला प्रकाश में आया है वह के एक सरकारी विद्यालय की एक अध्यापिका ने आरोप लगाया है कि उसके साथ चलती गाड़ी में रेप किया गया। इतना ही नहीं बलात्कार के बाद भी वो आदमी उसे छोड़ नहीं रहा था इसलिए उसने जोर से चिल्लाया और शोर मचाने पर जब आवाज़ गांव वालो तक गई तब गांव वालों ने घेर कर गाड़ी रुकवाई। वैसे आरोपी उस वक्त वहां से भाग गए लेकिन पुलिस ने तेजी से छान-बीन कर तीनों आरोपियों को घटना के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया।

Nirbhaya Case: दोषी विनय शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

घटना 17 फरवरी की है पीड़ित लड़की (22 Year Old Raped Chhattisgarh) जिसकी आयु 22 साल है| अपनी सहेलियों के साथ मध्य प्रदेश के मवई में एक मेला प्रदर्शनी देखने गई थी लेकिन उसकी सहेलिया मेले से अकेले हो गई और वापस आते समय वह लड़की अकेली हो गई। वो जब वापस गांव आ रही थी तब उसने जल्दी घर पहुंचने के लिए शव वाहन (Rape In A Hearse Van) से लिफ्ट ली जिसमे से पहले ही तीन लड़के मौजूद थे। लड़की ने बताया की रास्ते में उनमें से एक आरोपी आदित्य ने उसका रेप किया और उसके बाद भी नहीं छोड़ रहा था तब लड़की ने अपनी जान बचाने के लिए शोर मचाया तो गांव वालों ने गाड़ी रोक कर लड़की को बचाया लेकिन तीनों आरोपी फरार हो गए| लड़की की शिकायत और बयान के बाद पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत केस दर्ज कर लिया और 24 घंटे के अंदर सभी मुजरिमों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों में एक ड्राइवर है, जिसका नाम मनहरण है और बाकी के दो आरोपियों के नाम राजाराम और आदित्य है। इन सभी अपराधियों मे से आदित्य ही मुख्य आरोपी है| पुलिस ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि लड़की एक सरकारी स्कूल में टीचर है। अभी कुछ समय पहले ही उसकी नियुक्ती स्कूल में हुई थी। वहीं आरोपी ड्राइवर शव वाहन को बिना अनुमति के और बिना बताए गाड़ी मेला देखने के लिए ले गया। गाड़ी अस्पताल में मौजूद नहीं थी इसकी जानकारी BMO डॉ. पीएल कुर्र तक को नहीं थी।

Nirbhaya Case: निर्भया की मां से बोली दोषी मुकेश सिंह की मां- मेरे बेटे को माफ कर दो

Prabhat Jain

Share.