शिवराज सरकार ने स्वीकारी शिक्षकों की मांगें

0

मध्यप्रदेश में पिछले दो दिन से चल रही शिक्षकों की हड़ताल मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के आश्वासन के बाद खत्म हो गई है| प्रदेश के शिक्षक आमरण अनशन पर थे| अध्यापकों को शिक्षा विभाग में संविलियन होने की स्थिति में प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता का लाभ दिया जाएगा|

राज्य अध्यापक संघ के प्रांताध्यक्ष जगदीश यादव ने एक बयान जारी करते हुए इस बात की जानकारी दी कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से उनके निवास और प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल से वल्लभ भवन में हुई वार्ता में मिले आश्वासन पर अनशन समाप्त करने का निर्णय लिया गया|

शिक्षकों को मिलेंगे ये लाभ

शिक्षकों कि मांगें मानने के बाद अब शिक्षा विभाग में संविलियन होने की स्थिति में शिक्षकों को प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता का लाभ दिया जाएगा, नियमित कर्मचारियों के समान समस्त सुविधाएं प्राप्त होंगी| अनुकंपा नियुक्ति के नियमों में सरलता की जाएगी, जिससे प्रदेश के हजारों अनुकंपा नियुक्ति के आश्रितों को अनुकंपा प्राप्त हो सकेगी|

Share.