एक दिन के प्रचार में फूंके 12 करोड़

0

शिवराज सरकार ने जनपद पंचायत स्तर पर आयोजित मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना के कार्यक्रमों में जनपद स्तर पर एक दिन में साढ़े बारह करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि खर्च कर दी। राज्य सरकार ने असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के साथ अन्य गरीब तबके के परिवारों के लिए मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना की शुरुआत की। इसकी गवाही सरकारी दस्तावेज दे रहे हैं।

इस आयोजन को सफल बनाने की कमान संभागायुक्तों से लेकर जिलाधिकारी, जिला पंचायत और जनपद पंचायतों के अफसरों को दी गई। साथ ही भीड़ जुटाने का भी लक्ष्य दिया गया। श्रम विभाग की ओर से जारी पत्र आईएएनएस के हाथ आया है, जिससे पता चला है कि हर जनपद पंचायत को इस आयोजन को सफल बनाने के लिए चार लाख रुपए तक खर्च करने का अधिकार दिया गया था।

पत्र में कहा गया है कि जनपद पंचायतों को यह कार्यक्रम सुबह 11 से शाम 5 बजे तक आयोजित करना था और आयोजित किया भी गया। आयोजन स्थल पर एक बड़ी स्क्रीन भी लगाई गई, जिसके जरिये सीएम के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया गया। साथ ही ग्रामीणों को कार्यक्रम स्थल तक लाने के लिए परिवहन, भोजन और पानी सहित अन्य व्यवस्थाएं भी की गईं। इन आयोजनों में 5000 लोगों को बुलाने का लक्ष्य दिया गया था। राज्य में 313 जनपद पंचायतें हैं| यदि स्वीकृत राशि को ही खर्च किया गया होगा तो वह 12,52,00,000 से ज्यादा की राशि होती है।

Share.