आशंका के कारण हुई बुलंदशहर में हिंसा : शिवसेना

0

बुलंदशहर में हिंसा को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है| अब इस मामले को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधा है| दरअसल, शिवसेना की ओर से पूछा गया है कि क्या यह 2019 चुनावों से पहले धार्मिक ध्रुवीकरण का प्रयास है| उन्होंने इसे भाजपा की वोट हासिल करने की नीति बताई| बड़े ही चुटीले अंदाज़ में भाजपा पर निशाना साधा गया है|

जानकारी के अनुसार, शिवसेना की ओर से व्यंग्यात्मक लहजे में बुलंदशहर में हिंसा पर कहा गया, “गोमांस और गोहत्या जैसे मुद्दे गोवा, मिजोरम, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा जैसे राज्यों में भी हैं क्योंकि वहां तो खुलेआम गोमांस खाया जाता है, लेकिन उन राज्यों में कभी उत्पात नहीं मचा या मॉब लिंचिंग जैसा मामला नहीं हुआ क्योंकि उन राज्यों में लोकसभा की इक्का-दुक्का सीटें हैं|”

बुलंदशहर में हिंसा पर उनका कहना है कि इसके पहले भी भाजपा ने ऐसी की राजनीति की थी और सत्ता हथियाई थी अब फिर से वहीं राजनीति चल रही है| उनकी ओर से आगे कहा गया, “2014 में उत्तरप्रदेश की 80 में से 71 सीटें जीतने के कारण ही केंद्र में बीजेपी की बहुमतवाली सरकार बन सकी| अब 2019 में उसकी पुनरावृत्ति होने की संभावना नहीं| इस बार भाजपा को हार का सामना करना पड़ सकता है| यह बात कैराना लोकसभा उपचुनाव ने स्पष्ट कर दी है|”

शिवसेना की ओर से ये सवाल अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में किया गया है| उसमें लिखा है, “उत्तरप्रदेश की 80 सीटें 2019 में भी भाजपा के लिए गेम चेंजर होने वाली हैं| उसी के लिए गो हत्या का ‘संशय पिशाच’ लोगों की गर्दन पर बैठाकर धार्मिक उन्माद का और वोटों के ध्रुवीकरण का वही रक्तरंजित ‘पैटर्न’ फिर से चलाने की कोशिश शुरू की है क्या?”

बुलंदशहर हिंसा : 6 गिरफ्तार, मुख्य आरोपी फरार

बुलंदशहर : सपा प्रवक्ता का भाजपा पर बड़ा हमला

बुलंदशहर : इंस्पेक्टर के बेटे ने कहा, पिता को…

Share.