JNU में शशि थरूर ने भाजपा पर पूंजीवाद का लगाया आरोप, कहा…

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर हमेशा से ही भाजपा पर आरोप लगाने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं| थरूर ने एक बार कहा था कि जब उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की तो उन्हें कांग्रेस, कम्युनिस्टों और बीजेपी ने संपर्क किया। उन्होंने कांग्रेस का चयन किया क्योंकि इसके साथ वैचारिक रूप से सहज महसूस हुआ| कई बार भाजपा पर तंज कस चुके शशि थरूर ने इस बार जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय में भाजपा पर पूंजीवाद का आरोप लगाया है|

दरअसल, थरूर ने जेएनयू में भाजपा पर तंज कसते हुए कहा, “भाजपा पूंजीवाद का पालन करती है| हम तेजी से ध्रुवीकरण, धार्मिक, सांप्रदायिक, जाति, विचारधारा की राजनीति देख रहे हैं| केंद्रवाद शायद ही कभी राजनीति का केंद्र प्रतीत होता है| हमारी राजनीति जाति, क्षेत्र, भाषा के मुद्दों के कारण जटिल और उलझन में है|”

शशि थरूर ने आगे कहा, “भाजपा और आरएसएस को दक्षिणपंथी संगठनों के रूप में बताया गया है, तो लोग स्वदेशी जागरण मंच की आर्थिक नीति को नहीं देख रहे हैं| स्वदेशी जागरण मंच का अर्थशास्त्र वामपंथी अर्थशास्त्र पर आधारित है| कोई भी भाजपा या आरएसएस को वामपंथी के रूप में नहीं सोचता  है क्योंकि उनकी विचारधारा अर्थशास्त्र पर नहीं बल्कि सांस्कृतिक आत्मसम्मान पर केंद्रित है| पिछले चार वर्षों में हम देख रहे हैं कि सत्‍ताधारी पार्टी की ओर से ऐसा दर्शाया जाता है कि देश में अन्‍य विकल्‍पों के लिए स्‍थान दिनोंदिन कम होता जा रहा है इसलिए हम राजनीतिक तर्कों और भाषणों की नई परिभाषा देख रहे हैं| यदि कोई सत्‍ताधारी पार्टी की आलोचना करता है तो ऐसा समझा जाता है कि वह सरकार के साथ-साथ ही देश की भी आलोचना कर रहा है|”

केंद्र पर निशाना साधते हुए शशि थरूर ने कहा, “सरकार की ओर से देश के लोगों के लिए रोजाना एसिड टेस्‍ट और लिटमस पेपर टेस्‍ट की तरह ही टेस्‍ट जारी होते हैं| यदि आप देश में भारत माता की जय नहीं बोलते हैं तो इसका मतलब आप देशद्रोही हैं| देश के मुसलमान कहते हैं कि उनका धर्म की समझ इसके लिए उन्‍हें इजाजत नहीं देती| वह कहते हैं जय हिंद|”

Share.