इंदौर में शाहिद मो.रफी ने सुनाए रफी साहब के नगमे

0

ख्यात गायक मोहम्मद रफी के जन्मदिन के मौके पर इंदौर में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर मोहम्मद रफी के सुपुत्र शाहिद मोहम्मद रफी ने रफी साहब के नगमों को अपने अंदाज़ में पेश किया। इंदौर में हुए इस आयोजन में  श्रोताओं ने एक बार फिर से रफी साहब की यादें (Badi Door Se Aaye Hain) अपने जेहन में ताज़ा की।

मोहम्मद रफी के बेटे ने इस दौरान एक से बढ़कर एक नगमे पेश किए। उन्होंने ‘बड़ी दूर से आए हैं… (Badi Door Se Aaye Hain)’ नग़मे के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की। वहीं उन्होंने ‘चांद मेरा दिल…’, ‘दर्दे दिल, दर्दे जिगर…’जैसे नग़मों से समां बांधा।

वहीं कुछ अन्य कलाकारों ने भी मोहम्मद रफी साहब को सुरीली श्रद्धांजलि (Badi Door Se Aaye Hain) दी। मो. रफी के बेटे ने इस मौके पर उनके नगमों को अपने अंदाज़ में जब पेश किया तो दर्शक भी मुग्ध हो गए। इस कार्यक्रम में ‘टैलेंटेड इंडिया’ भी डिजिटल मीडिया के रूप में सहभागी बना। मो. रफी के नगमों से उनके जन्मदिन की पूर्व संध्या पर देर रात तक संगीत का माहौल बना रहा।

रफी साहब पर जल्द आएगी फिल्म-शाहिद

मोहम्मद रफी साहब के बेटे ने इस मौके पर उनकी कुछ यादें भी साझा की। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में वे एक फीचर फिल्म भी मो. रफी साहब (Badi Door Se Aaye Hain) पर बना रहे हैं, जिसमें दर्शकों को उनके बारे में सब कुछ जानने को मिलेगा। यह एक सामान्य फिल्म की तरह ही 3 घंटे की फीचर फिल्म होगी, जिसे देखने के बाद लोगों को रफी साहब के जीवन के बारे में कोई जिज्ञासा नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि यह फिल्म देखकर जब लोग थिएटर से बाहर निकलेंगे तो उनकी आंखों में आंसू होंगे। जैसे ही कलाकारों का चयन फिल्म के लिए हो जाएगा, इस फिल्म का काम शुरू होगा।

मोहम्मद रफ़ी ने छिपाई थी अपनी पहली शादी

रफ़ी साहब जैसे गायक बार-बार जन्‍म नहीं लेते

B’day : आज भी बड़ा है उदित नारायण का नाम

Share.