सीक्रेट फाइल में मिले इमरान- बाजवा के नापाक मंसूबों के सुबूत

0

पाकिस्तान  आतंक की पनाहगाह है यह सच अब पूरी दुनिया के सामने आ गया है. इसी क्रम में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. एक सीक्रेट फाइल ने इमरान और बाजवा ने हिंदुस्तान में साजिश के लिए बंजारे आतंकियों की फौज तैयार कर ली है इस बात का खुलासा किया है. फाइल में मौजूद सबुत कहते है कि हिंदुस्तान से करीब 2000 किलोमीटर दूर म्यांमार में बाजवा ने एक ट्रैनिंग कैंप खोला है और यहाँ बंजारे आतंकियों को बाजवा की सेना आतंक फ़ैलाने की ट्रेनिंग दे रही है .

JEE Main And NEET 2020 Updates : सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की NEET और JEE एग्जाम कैंसिल करने की याचिका

सीक्रेट फाइल में छुपे राज उजागर हुए-
। बांग्लादेश की सीमा से लगे म्यांमार में इमरान-बाजवा की एजेंसी ISI भारत के खिलाफ बंजारा साजिश रच रही है.
जर्मन न्यूज़ एजेंसी डी डब्ल्यू की रिपोर्ट में साउथ एशिया डेमोक्रेटिक फोरम के एनालिस्ट सिगफ्रीड ओ वुल्फ से जानकारी मिली है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने रोहिंग्याओं के साथ मिलकर आतंक का नया रूप बनाया है.
ISI बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश यानी जेएमबी के साथ म्यांमार में 40 रोहिंग्याओं को ट्रेनिंग दे रही है
ISI की सीक्रेट फाइल से पता चला है कि ये रोहिंग्या हिंदुस्तान के खिलाफ तैयार हो रहे है.
बांग्लादेश का संगठन JMB 2016 में ढाका के एक कॉफी शॉप पर हमला कर चूका है, जिसमें ज्यादातर विदेशियों समेत 22 लोगों की मौत हो गई थी

फेसबुक की बीजेपी भक्ति से मचा बवाल थाने तक पहुंचा, जानिए अब तक की अपडेट


जिन 40 रोहिंग्याओं को चुना गया है ये सभी म्यांमार की सीमा से सटे बांग्लादेश के कॉक्स बाजार के रहने वाले हैं
रोहिंग्या शरणार्थी शिविर में रहने वाले लोग ISI और आतंकी संगठनों के लिए सबसे आसान शिकार है उन्हें बरगला कर वे आतंक फैलाने के काम में लगाते है
जर्मन न्यूज़ एजेंसी डी डब्ल्यू की रिपोर्ट में म्यांमार की सेना के अधिकारियों के हवाले से दावा किया गया है कि बांग्लादेश-म्यांमार सीमा में सक्रिय रोहिंग्या आतंकी संगठन अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी यानी ARSA भी पाकिस्तान की साजिश में शामिल है
अराकान रोहिंग्या सॉल्वेशन आर्मी (ARSA) भी पाकिस्तान की मदद कर रहा है
ARSA के आतंकियों को पाकिस्तान की तहरीक ए तालिबान ट्रेनिंग देती है
रोहिंग्याओं को ट्रेनिंग देने वाली बांग्लादेश की जेएमपी और ARSA दोनों ही आतंकी संगठन एक-दूसरे से जुडे हुए हैं
इस पूरी साजिश में पाकिस्तान चीन भी शामिल है
चीन अराकान रोहिंग्या सॉल्वेशन आर्मी जैसे आतंकी संगठन को हथियार मुहैया करवाता है.

नेपाल से ओवरसाइट मैकेनिज्म के तहत बातचीत शुरू

Share.