website counter widget

SC ने दिया वसीम रिजवी को समर्पण का आदेश

0

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी (shia wakf board chairman wasim rizvi) की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है | अब सुप्रीम कोर्ट (SC) ने मारपीट के एक मामले में उन्हें 15 दिनों में सरेंडर होने का आदेश दिया है| शीर्ष अदालत ने कहा है कि वसीम रिजवी (wasim rizvi) को कोर्ट के समक्ष समर्पण तो करना ही होगा, लेकिन इस दौरान रिजवी के खिलाफ कोई दंडात्मक कार्यवाही नहीं की जाएगी| मारपीट के एक मामले में वसीम रिजवी के खिलाफ निचली अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी कर रखा है इसके बाद रिजवी इस वारंट के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट का सहारा लिया था| इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा था कि केस रद्द करने वाली याचिका पर जब तक सुनवाई नहीं होगी तब तक निचली अदालत द्वारा जारी गैर जमानती वारंट रद्द नहीं किया जाता|

कांग्रेस के विधायक महेश परमार की गाड़ी पर हमला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी वसीम रिजवी (wasim rizvi) को समर्पण के लिए 15 दिन का वक्त दिया था| इसके बाद रिजवी इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गए लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने भी उन्हें समर्पण का आदेश दिया है| न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और संजीव खन्ना की अवकाशकालीन पीठ ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ दाखिल रिजवी की विशेष अनुमति याचिका पर कहा, ‘हाईकोर्ट के आदेश में दखल देने का कोई आधार नजर नहीं आता है| फिर भी न्यायहित को देखते हुए वह याचिकाकर्ता को अदालत के समक्ष समर्पण करने के लिए 15 दिन का और अतिरिक्त समय देते हैं| दरअसल वसीम रिजवी (wasim rizvi) के खिलाफ यह मामला लखनऊ की दरगाह हजरत अब्बास में नई कमेटी को प्रबंधन प्रभार सौंपने के दौरान हुई मारपीट और झगड़े से जुड़ा है|

पुलवामा: मुठभेड़ में दो आतंकी ढ़ेर, एक जवान भी शहीद

साल 2012 में हुए इस घटनाक्रम में वसीम रिजवी और अन्य आरोपियों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में मुकदमा रद्द करने की याचिका दी है| हाल ही में हाईकोर्ट ने निचली अदालत की सुनवाई पर लगी रोक हटा दी थी जिसके बाद निचली अदालत ने वसीम रिजवी (wasim rizvi) और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था| वैसे वसीम रिजवी अक्सर विवादित बयानों के लिए चर्चा में बने रहते है| हाल में रिजवी ने देश के पीएम मोदी पर बड़ा बयान देते हुए कहा था कि अगर नरेंद्र मोदी देश के दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बने तो वह अयोध्या में राम जन्मभूमि के गेट के पास जाकर आत्महत्या कर लेंगे| इसके आलावा वसीम रिजवी (wasim rizvi) इसी साल जनवरी में मदरसा शिक्षा पर सवाल उठाते हुए पीएम मोदी को खत लिख कर देशभर के मदरसे को बंद करने का अनुरोध किया था| रिजवी ने अपने पत्र में कहा था कि देश के मदरसों में छात्रों में आंतकी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा फैलाई जा रही है|

डॉक्टर, इंजीनियर, सीए और कारोबारियों से रूबरू होंगे नाथ

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.