सुप्रीम कोर्ट: NBCC करेगा आम्रपाली के सभी अधूरे प्रोजेक्ट को पूरा

0

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को आम्रपाली प्रोजेक्ट्स में फ्लैट बुक कराने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर सुनाई है| कोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि आम्रपाली के सभी प्रोजेक्ट्स की जिम्मेदारी अब एनबीसीसी द्वारा पूरी की जाएगी| इसके लिए कोर्ट ने 30 दिनों के के अंदर सारे प्रोजेक्ट्स से संबंधित ब्यौरा माँगा है| इसके साथ ही आम्रपाली ग्रुप के चेयरमेन को नोएडा के प्रोजेक्ट्स की पूरी जानकारी एनबीसीसी के साथ साझा करने के भी निर्देश दिए हैं| जब तक मामला कोर्ट में चलेगा तब तक आम्रपाली समूह कोई भी निर्णय कोर्ट से बिना पूछे नहीं ले सकते|

आम्रपाली ग्रुप के ऑडिटर  को फटकार लगाते हुआ मंगलवार को कोर्ट ने सवाल किया, “आखिरकार खरीददारों के 2500 करोड़ कहां गए? इन रुपयों का हिसाब क्यों नहीं है| कंपनी द्वारा खरीददारों की पूंजी के साथ इस तरह की कारगुजारी बिल्कुल भी माफी के काबिल नहीं है|”

कोर्ट ने आम्रपाली समूह के ऑडिटर से सभी 40 निदेशकों के सीज बैंक एकाउंट का भी ब्यौरा मांगा है| वहीं कोर्ट के फैसले के बाद एनबीसीसी के सदस्य पिंकी आनंद ने कोर्ट में कहा कि सारे प्रोजेक्स को पूरा करने के लिए हमें करोड़ रुपयों की आवश्यकता होगी, लेकिन इसके लिए एनबीसीसी कोई भी सहायता नहीं कर सकती है| यही बात एनबीसीसी के चेयरमेन द्वारा भी कही गई| उन्होंने कहा कि हम प्रयास कर सकते हैं, लेकिन कुछ भी कह पाना मुश्किल है|

गौरतलब है कि इसके पहले सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली डायरेक्टर्स से प्रॉपर्टी की डीटेल मांगी थी| कोर्ट ने कहा था, “किसी भी प्रोजेक्ट में बिजली नहीं कटेगी, आम्रपाली खुद बिजली के 3 करोड़ रुपए का बकाया क्लियर करेगा| आम्रपाली ग्रुप की कंपनियों का फॉरेन्सिक ऑडिट हो सकता है|” फॉरेन्सिक ऑडिट के लिए कोर्ट ने बायर्स से तीन ऑडिटर्स का नाम सुझाने को कहा है|

Share.