website counter widget

रेपिस्ट निकला बड़ा पत्रकार, अब तो जेल जाना पड़ेगा!

0

पत्रकार तरुण तेजपाल (Tarun Tejpal) के लिए यौन शौषण मामले को लेकर बुरी खबर है| तेजपाल को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है| कोर्ट ने उनकी उस अपील को खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने निचली कोर्ट में तय हुए बलात्कार के आरोप खारिज करने की मांग की थी| सुप्रीम कोर्ट ने कहा, तेजपाल (Journalist Tarun Tejpal) के ऊपर यौन शोषण का केस चलता रहेगा| साथ ही कोर्ट ने निचली अदालत को 6 महीने में ट्रायल पूरा करने को कहा है|

Breaking News : पूर्व मुख्यमंत्री का निधन

इससे पहले पिछली सुनवाई में कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था| सुनवाई के दौरान कोर्ट ने तेजपाल (Journalist Tarun Tejpal) के वकील पूछा था कि, यदि उनके खिलाफ यौन शौषण का आरोप झूठा है, तो उन्होंने सहकर्मी से पत्र लिखकर माफी क्यों मांगी? कुछ नहीं हुआ तो माफी नहीं मांगनी चाहिए थी| वकील ने कहा था कि तेजपाल पर लगे आरोप में कोई सच्चाई नहीं है|

Article 370 पर राहुल गांधी की बोलती बंद!

तेजपाल (Journalist Tarun Tejpal) के वकील विकास सिंह ने कहा था कि, सीसीटीवी फुटेज के अनुसार शिकायतकर्ता ने तेजपाल का पीछा किया था| उन्होंने कहा था कि पुलिस कुछ व्हाट्सएप मैसेज छिपा रही है, जिससे साबित हो जाएगा कि आरोप गलत है|

मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने तेजपाल पर कई सवाल भी उठाए थे और कहा था कि जिस तरह के आरोप लगे हैं, उन्हें देखने के बाद धरती पर कोई भी उन्हें आरोपमुक्त नहीं कर सकता है|

बता दें कि, गोवा की अदालत ने 29 सितंबर 2017 को पूर्व महिला सहयोगी के यौन उत्पीड़न और रेप के आरोपी तहलका के संपादक तरुण तेजपाल (Tarun Tejpal) के खिलाफ आरोप तय किए थे| उस समय तेजपाल ने अपना अपराध स्वीकार करने से इनकार कर दिया था|

Video : बेकाबू कार की जोरदार टक्कर से फुटपाथ पर हवा में उड़े लोग

गौरतलब है कि तेजपाल की एक जूनियर सहयोगी ने उन पर वर्ष 2013 में एक कार्यक्रम के दौरान गोवा के एक पांच सितारा होटल की एक लिफ्ट के अंदर यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था| फिलहाल तेजपाल जमानत पर हैं|

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.