केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर और गहलोत का सपाक्स और करणी सेना ने किया विरोध

0

मध्यप्रदेश में एससी-एसटी एक्ट को लेकर नेताओं को लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को रतलाम जिले की नगर पंचायत आलोट पहुंचे केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत को जनशक्ति मंच और सपाक्स के कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा। वहीं करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने मंत्री गहलोत को काले झंडे दिखाए।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और मंत्री थावरचंद गहलोत नवोदय स्कूल के भवन का शिलान्यास व भूमिपूजन करने पहुंचे। इस दौरान सपाक्स के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए। कार्यक्रम को लेकर प्रशासन और पुलिस सुबह से सतर्क थी। सपाक्स ने एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में केंद्रीय मंत्रियों को काले झंडे दिखाने की चेतावनी दी थी। वहीं आगामी 30 सितंबर को भोपाल में सपाक्स द्वारा आयोजित होने वाले महासम्मेलन में आलोट क्षेत्र से अधिक संख्या में लोगों से पहुंचने को कहा है।

सपाक्स ने कहा कि हमारा विरोध इन नेताओं के कार्यक्रम को लेकर नहीं है। सामान्य व पिछड़ा वर्ग के हित में मंत्रियों, सांसदों ने सदन में कोई बात नहीं रखी इसलिए इनका विरोध किया जा रहा है।

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के ताल तहसील अध्यक्ष गुलाबसिंह राजपूत ने कहा कि संशोधित एससीएसटी एक्ट और जातीय आरक्षण के विरोध में करणी सेना ने केंद्रीय नेताओं को काले झंडे दिखाकर विरोध दर्ज किया है। हमने शांतिपूर्ण तरीके से विरोध किया है।

जावड़ेकर के घर के बाहर धारा 144 लागू

अब 50% कम होगा सिलेबस, इस फील्ड पर रहेगा फोकस

Share.