क्या कांग्रेस ने तोड़ दिया सज्जनकुमार से नाता ?   

0

दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख दंगा मामले(1984 Anti Sikh Riots) में मंगलवार को कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को उम्रकैद की सज़ा सुनाई थी| अब यह कहा जा रहा है कि कांग्रेस ने सज्जन कुमार से नाता तोड़ लिया है | दरअसल, सज्जन कुमार ने मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिख पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया| जानकारों का कहना है कि उन्होंने यह पार्टी के दबाव में आकर किया|

जहां एक ओर यह कहा जा रहा है कि कांग्रेस ने सज्जन कुमार से नाता तोड़ा वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि कुमार ने यह फैसला स्वविवेक से लिया है| अपने पत्र में कुमार ने लिखा, “माननीय हाईकोर्ट द्वारा मेरे खिलाफ दिए गए आदेश के मद्देनजर मैं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से तत्काल इस्तीफा देता हूं|”

इस्तीफा देने के बाद सज्जन कुमार दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे| गौरतलब है कि सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख विरोधी दंगों से जुड़े मामले में कुमार को दोषी ठहराते हुए उन्हें उम्रकैद की सज़ा सुनाई| उन्हें दंगों के दौरान पालम राजनगर में 5 सिखों की हत्या के मामले में आपराधिक साजिश और दंगा भड़काने का दोषी करार देते हुए यह सज़ा सुनाई गई|

जख्मों पर नमक छिड़क रही कांग्रेस : मान

सवालों के घेरे में मप्र के सीएम

बदले की आग में क्यों जला हिन्दुस्तान ?

कांग्रेस के पूर्व सांसद को उम्रकैद

Share.