100 रुपए में रोपवे की सुविधा

0

वैष्णोदेवी से भैरो घाटी तक जाने के लिए अब श्रद्धालुओं को पहाड़ नहीं चढ़ना पड़ेगा और न ही उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी होगी। श्रद्धालुओं की परेशानी को खत्म करने के लिए अब वैष्णोदेवी-भैरोघाटी रोपवे की सुविधा का शुभारंभ किया गया है। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रोपवे का शुभारंभ राजभवन से ई-उद्घाटन के माध्यम से किया।

उद्घाटन से पहले इस रोपवे के ट्रायल लिए गए, जिसमें तकरीबन तीन हजार से भी अधिक श्रद्धालुओं ने इस सुविधा का निःशुल्क लाभ लिया। अब इस रोपवे के लिए श्रद्धालुओं को 100 रुपए का शुल्क देना पड़ेगा। वैष्णोदेवी की यात्रा भैरो बाबा के दर्शन के बिना अधूरी रहती है। इसके बावजूद कई लोग वैष्णोदेवी के दर्शन के बाद थकावट के कारण भैरो मंदिर नहीं जा पाते हैं। दोनों मंदिरों के बीच लगभग 3.5 किमी की दूरी है। भैरो मंदिर पहुंचने के लिए बड़ी चढ़ाई करनी पड़ती है। श्रद्धालुओं की इसी समस्या को हल करने के लिए रोपवे की शुरुआत की गई है।

रोपवे की मांग कई दिनों से की जा रही है। इस रोपवे की सहायता से अब श्रद्धालु आसानी से भैरो मंदिर के दर्शन कर पाएंगे और अपनी वैष्णोदेवी की यात्रा पूरी कर पाएंगे। इस सुविधा से अब बच्चे और बुजुर्ग आसानी से अपनी यात्रा पूर्ण कर सकेंगे। वैष्णोदेवी से भैरो मंदिर अब महज़ 3 मिनट में पहुंचा जा सकेगा जबकि पहले इस यात्रा में घंटों का समय लग जाता था। श्रीमाता वैष्णोदेवी श्राइन बोर्ड सीईओ सिमरनदीप सिंह ने बताया कि इस सुविधा से हर घंटे 800 यात्री भैरो मंदिर की यात्रा कर सकेंगे।

लाखों लोगों की लाइफलाइन बोगीबील पुल !

भाजपा नेता ने दिव्यांग को पीटा…

यूपी में नमाज़ पढ़ने पर रोक…

Share.