रॉबर्ट वाड्रा मामले पर अहम फैसला आज

0

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (priyanka gandhi) के पति और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी (rahul gandhi) के जीजा रॉबर्ट वाड्रा (robert vadra) इलाज के लिए विदेश जायेंगे या नहीं इसका फैसला दिल्ली की एक अदालत आज कर सकती है| वाड्रा ने 29 मई को इलाज के लिए कोर्ट से लंदन जाने की अनुमति की मांग की थी| अदालत ने इम मामले में तीन जून तक के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया था जिस पर आज फैसला हो सकता है|

दिल्ली की एक अदालत में सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उनकी अर्जी का विरोध करते हुए कहा था कि वो विदेश में जमा कालेधन को ठिकाने लगाने के लिए बहाने बना रहे हैं| उन्हें विदेश जाने की मंजूरी नहीं मिलनी चाहिए|

मंत्री नहीं बनाएं जाने के सवाल पर मेनका ने दिया ऐसा जवाब


मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी रॉबर्ट वाड्रा (robert vadra) ने अदालत की लिखी अर्जी में बताया था कि उनकी बड़ी आंत में ट्यूमर है| उन्हें इसके इलाज के लिए ब्रिटेन और दो अन्य देश जाने की अनुमति दी जाए| वाड्रा के वकील केटीएस तुलसी ने कोर्ट से कहा कि मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक उनकी बड़ी आंत में एक छोटा ट्यूमर है| वो सेकेंड ओपिनियन के लिए लंदन जाना चाहते हैं| ईडी ने वाड्रा (robert vadra) की इस याचिका का विरोध करते हुए कहा कि वह देश छोड़कर भाग सकते हैं|

वहीँ ईडी ने कोर्ट में कहा था कि कि वाड्रा के खिलाफ जांच आखिरी मुकाम पर है| उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत पड़ेगी” उन पर गंभीर आरोप हैं| उनकी ओर से बताए गए स्वास्थ्य कारण महज बहाना है| वो उन देशों की यात्रा करना चाहते हैं, जहां उन्होंने कालाधन छुपाया है| विदेश जाने की अनुमति पर उनके देश छोड़ने की आशंका है| ऐसे में उन्हें विदेश जाने की अनुमति नहीं दी जाए|

भारत की इफ्तार पार्टी: पाक ने मेहमानों से की गाली-गलौज

वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा (robert vadra) मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच में हमेशा सहयोग करते रहे हैं| वो लंदन में अपनी मां का इलाज करा रहे थे| उसी दौरान उन्हें ईडी की कार्रवाई के बारे में पता चला| वो बिना किसी वारंट या समन के भारत वापस आए और ईडी के सामने पेश हुए| ऐसे में ईडी को उनके भाग जाने के बारे में नहीं सोचना चाहिए|

पीएम मोदी की हत्या की प्लानिंग, नाम भी उजागर

Share.