अब ड्राइविंग लाइसेंस की छुट्टी, मोदी सरकार दे रही नई सुविधा…

0

घर से गाड़ी पर सवार होकर निकलने के बाद जब हम जरुरी कागजात घर पर भूल जाते हैं और यातायात पुलिस ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और इंश्योरेंस पेपर नहीं होने के बाद चालान बनाती है तो हम बहुत दुखी होते हैं, लेकिन अब आपको इन सारे दस्तावेजों को रखने की जरूरत नहीं है| मोदी सरकार एक नई सुविधा लेकर आई है| इस नई सुविधा में आपको केवल मोबाइल में एक एप डाउनलोड करना होगा और आपका काम हो जाएगा|

दरअसल, सड़क परिवहम मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम में कुछ बदलाव किए हैं| इसके बाद केंद्र सरकार ने राज्यों के परिवहन विभागों और ट्रैफिक पुलिस को आदेश दिया है कि अब सत्यापन के लिए ऑरिजिनल कॉपी जरुरी नहीं है, मोबाइल में भी यदि कोई दस्तावेज की कॉपी दिखाते हैं तो वह भी मान्य होगा|

मंत्रालय का कहना है कि डिजिलॉकर या एमपरिवहन एप पर मौजूद दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी को मान्य माना जाएगा| ट्रैफिक पुलिस अपने पास मौजूद मोबाइल से ड्राइवर या परिवहन की जानकारी क्यूआर कोड के जरिए अपने डाटाबेस से निकाल सकती है| इसी के साथ यह भी रिकॉर्ड रखा जाएगा की आपने कितनी बार यातायात की नियमों का उल्लंघन किया है|

ऐसे करें मोबाइल में सेव दस्तावेज

सबसे पहले डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप को अपने मोबाइल में डाउनलोड करें|

इसके बाद साइनअप करने के लिए अपना मोबाइल नंबर एंटर करना होगा| फिर आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा, उस ओटीपी को एंटर करके वेरिफाई करें|

अब यूजर नेम और पासवर्ड सेट कर डिजिलॉकर अकाउंट बनाएं|

इसमें आधार नंबर दर्ज करवाएं|

अब ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्‍ट्रेशन नंबर, या अन्य दस्तावेजों को ऐप पर डाउनलोड कर लें|

अब ये आपके मोबाइल में सेव है| जब भी कोई जांचकर्ता आपसे दस्तावेज मांगे तो वह आपके मोबाइल से क्‍यूआर कोड स्‍कैन कर दस्तावेज आसानी से देख पायेगा|

इसमें यातायात नियमों के उल्‍लंघन का ब्यौरा भी दर्ज होता जायेगा|

Share.