website counter widget

Budget 2019 : बजट से जुड़ी हलवा और सूटकेस जैसी खास बातें

0

मोदी सरकार का अंतिम बजट आज पेश हो रहा है | नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सरकार का अंतरिम बजट पीयूष गोयल पेश करेंगे | बजट से कई परम्पराएं (Budget Rituals ) जुड़ी है |

Interim Budget 2019 Live Updates :  2022 तक सरकार सभी को घर देगी सरकार

तो जानिए बजट से जुड़ी कुछ खास बातें (Budget Rituals In Hindi) –

* केंद्रीय बजट तैयार करने में लगभग 5 से 7 महीने का समय लगता है|
* पहले बजट को फरवरी के अंतिम कार्य दिवस (लास्ट वर्किंग डे) पर पेश किया जाता था|
* साल 2017 में अरुण जेटली ने तारीख बदलकर 1 फरवरी कर दी|
* एक नीले रंग के कागज पर बजट के सभी दस्तावेजों के मुख्य बिंदु होते हैं जिसे ब्लू शीट कहा जाता है |
* वित्त मंत्री के हाथो में जाने से पहले नीले रंग की शीट को कड़ी निगरानी में रखा जाता है|
* वित्त मंत्री को भी इसे अपने पास रखने की अनुमति नहीं है|
* 1999 तक केंद्रीय बजट शाम 5 बजे घोषित किया जाता था|
* साल 2001 से तत्कालीन वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए पहली बार सुबह 11 बजे बजट पेश किया |
* जिसके बाद से आज तक बजट 11 बजे ही पेश किया जाता है|
* बजट के दौरान भाषण आमतौर पर लगभग एक घंटे तक रहता है|
* मनमोहन सिंह ने सबसे लंबा भाषण 1991 (18,650 शब्दों) में दिया गया था|
* पिछले साल वित्त मंत्री अरुण जेटली ने करीब 18,604 शब्दों में भाषण दिया|
* बजट का सबसे छोटा भाषण साल 1977 में हिरूभाई एम पटेल ने 800 शब्दों का दिया |
* बजट पेश करने से पहले सरकार हलवा सेरेमनी का आयोजन करती है|
* वित्त मंत्रालय के बेसमेंट में बजट के डॉक्यूमेंट्स की आधिकारिक छपाई 1 हफ्ते पहले शुरू हो जाती है|
* इस अवसर को हलवा समारोह द्वारा हरी झंडी दिखाई जाती |
* हलवा लगभग वित्त मंत्री को ओर से लगभग 100 अधिकारियों और कर्मचारियों में बांटा जाता है|
* बजट पेश होने तक कर्मचारियों को नॉर्थ ब्लॉक के अंदर लॉक कर दिया जाता है|
* उनके खाना खाने से पहले वहां फू़ड टेस्टर खाने का नमूना लेते हैं| डॉक्टर मौजूद रहते हैं|
* वित्त मंत्री बजट पेश करने जाते हैं तो उनके हाथ में एक सूटकेस भी होता है|
* सूटकेस के साथ फोटो भी खिंचवाते हैं|
* 1860 में ब्रिटेन के ‘चांसलर ऑफ दी एक्‍सचेकर चीफ’ विलियम एवर्ट ग्‍लैडस्‍टन फाइनेंशियल पेपर्स के बंडल को लेदर बैग में लेकर आए थे|तभी से यह परंपरा है |
* यूके के वित्त मंत्री अपने साथ लाल रंग के लेदर सूटकेस का इस्तेमाल करते हैं|
* पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा का बकल स्ट्रैप लेदर केस और प्रणब मुखर्जी का रेड वेलवेट सूटकेस में देखा होगा |
* वित्त मंत्री बजट भाषण के दौरान प्रसिद्ध लोगों के विचारों के बारे मेंबात करते है |
* मनमोहन सिंह ने रवींद्रनाथ टैगोर और विक्टर ह्यूगो के विचार के बारे में बताया था|
* अरुण जेटली और पी चिदंबरम ने विवेकानंद और तिरुवल्लुवर के विचारों के बारे में बताया था|

Indian Budget History : पहले बजट से आज तक के बदलाव का सफर

अभिषेक

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

सांसद सुषमा स्वराज की गुमशुदगी के पोस्टर लगाए

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.