बीएचयू: जूनियर डॉक्टरों और छात्रों के बीच मारपीट

0

बीएचयू कैंपस में सोमवार देर रात एक बार फिर माहौल बिगड़ गया। रविवार को छात्र-छात्राओं में हुए विवाद के बाद धीरे-धीरे माहौल शांत हो गया था, लेकिन एक बार फिर हंगामा शुरू हो गया। कैंपस के अस्पताल में एक मरीज़ के घरवालों और रेजिडेंट डॉक्टर के बीच मारपीट के बाद काफी बवाल हुआ। गुस्साए जूनियर डॉक्टरों ने मरीज के परिजन को पीटा तो बीएचयू के छात्रों ने देर रात जूनियर डॉक्टरों की पिटाई कर दी। हंगामा कर रहे छात्रों ने लक्ष्मणदास गेस्ट हाउस के पास पुलिस बूथ को जला दिया, एटीएम में तोड़फोड़ की और दो बाइक जला दीं। छात्रों ने बिड़ला चौराहे पर आगजनी भी की। रातभर छात्र परिसर में तांडव करते रहे।

मामले में पुलिस ने कहा कि सुंदरलाल अस्पताल में हुई घटना के बाद विश्वविद्यालय परिसर में सुरक्षाबल की तैनाती की गई है। फिलहाल स्थिति काबू में है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बीएचयू – क्यों शुरू हुआ बवाल ?

दरअसल, काशी हिंदू विश्वविद्यालय कैंपस के सर सुंदरलाल हॉस्पिटल में एक महिला अपने परिवार के साथ अपना उपचार करवाने आई थी। इलाज़ में देरी के कारण जूनियर डॉक्टर और मरीज के परिजन के बीच विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि परिवार और जूनियर डॉक्टरों के बीच मारपीट हो गई। इधर परिजन ने बीएचयू हॉस्टल के छात्रों को अपनी मदद के लिए बुला लिया। करीब आधे घंटे तक दोनों पक्षों के बीच काफी मारपीट हुई। दिन में हुई घटना के बाद कुछ वक्त मामला शांत रहा, लेकिन सोमवार देर रात अचानक हॉस्टल के छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया। परिसर में तोड़फोड़ के साथ आगजनी के बाद भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है।

Share.