मैं चाहती हूँ खुद आत्महत्या कर लू और मेरी फैमिली को लाइन में खड़ा कर उड़ा दो-रिया  

0

रिया चक्रवर्ती ने सुशांत के सुसाइड से लेकार्ट ड्रग्स कनेक्शन, सुशांत के परिवार संग रिश्ते, सीबीआई जांच, अंकिता लोखंडे, नेपोटिज्म जैसे तमाम मुद्दों पर किये गए सवालों के जवाब एक न्यूज़ चेनल को दिए गए इंटरव्यू में दिए ..सुशांत की मौत के बाद पहली बार रिया ने अपना मुंह खोला और कहा,  

नारकोटिक्स ड्रग्स कंट्रोल और ड्रग पैडलर्स, ड्रग डीलर्स के साथ कोई कनेक्शन पर रिया ने कहा ये यही बचा था ना अब मेरे ऊपर डालने के लिए, कि इस लड़की को इतना क्रूसिफाई कर दो. मैं तो बोलती हूं एक बंदूक ले आओ, मेरी फैमिली लाइन से खड़ी हो जाएगी. गोली मारकर उड़ा दो हमें. नहीं तो हम ही सुसाइड कर लेते हैं फिर कौन जिम्मेदार होगा. वैसे भी पिछले कुछ महीनों में सुसाइड का ही सोचा है. घुट-घुटकर जीने से इस तरह की बेइज्जती, हम लोग मिडिल क्लास लोग हैं इज्जत नहीं है तो कुछ नहीं है. आज मैं ड्रग डीलर हूं, कल मैं मर्डरर थी फिर और कुछ और.. ये एंडलेस और बेसलेस है. अब मैं इतने सारे लोगों से कैसे लड़ूं. रिया ने कहा, मीडिया ट्रायल है. और बहुत ही बुरा व्हिच हंट (डायन का शिकार) जिसे कहते हैं. वो भी चल रहा है. वो भी चल रहा है. किसी को प्यार करना एक मोस्ट वांटेड क्राइम हो गया है.

users are raising such questions on Rhea Chakrabortys tweet on Sushant case | सुशांत सुसाइड मामले में रिया चक्रवर्ती के Tweet पर यूजर्स उठा रहे ऐसा सवाल | Hindi News, बॉलीवुड

कंगना पर भी बोली रिया

 

मैं आज इंडियाज मोस्ट वांटेड विलेन हूँ. सुशांत आज यहां नहीं है… और वो सबको सच नहीं बता सकता. लेकिन  मैं लड़ूंगी.

मुझे तोड़ने की तो पूरी साजिश है…. पहले मेरी फैमिली को तोड़ने की. फिर…. मुझे तोड़ने की. अब, मेरे हौसले को तोड़ने की, कि इस लड़की को ऐसा कर दो कि ये अपने आप को भी डिफेंड नहीं कर पाए.

Sushant Singh Suicide: Rhea Chakraborty And Sushant Marriage Plan - Sushant singh suicide case: रिया से हुई कई घंटे पूछताछ, शादी और झगड़ों पर बताई ये सच्चाई! | Patrika News

क्या बोलती हैं कंगना जी? कि सिस्टमैटिक ब्रेकडाउन ऑफ ए फ्रेजाइल माइंड सुशांत के साथ हुआ है. तो मेरे साथ क्या हुआ है? मेरे साथ क्या हुआ है? सिस्टमैटिक ब्रेकडाउन ऑफ ए इनोसेंट फैमिली? एन इनोसेंट गर्ल? जिसने एक मासूम लड़के को प्यार किया? (बनावटी हंसी हंसते हुए) आप लोग इस बात से खुश नहीं हैं…. कि यहां पर कोई गॉसिप और कोई अतरंगी कहानी नहीं है. और…. ये कोई… विषकन्या कभी बुला देता है… कभी कोई औकात पर बात कर देता है. मतलब कुछ भी चल रहा है. मेरी लाइफ है ये?? (उदासी भरी मुस्कान) ये मेरी और मेरे परिवार की जिंदगी है.

सुशांत आत्महत्या मामले में पुलिस ने रिया चक्रवर्ती से की घंटों पूछताछ, हुए कई बड़े खुलासे

आज क्यों दिया सवालों का जवाब इस पर रिया ने कहा, सुशांत मेरे सपने में आया था…. वो काफी लोगों के सपने में आ रहा है आजकल जो उसे कभी जानते भी नहीं थे. उसने बोला कि सच बोलो. जाकर सबको बोलो कि तुम क्या हो. हमारा रिश्ता क्या था. और क्या है.

कोलकाता के कॉलेज की मेरिट लिस्ट में सनी लियोनी टॉप पर

सुशांत से रिलेशन

हम काफी साल से दोस्त हैं. हम लोग दो हजार…… तेहर में यश राज स्टूडियो में मिले थे. मेरी पहली फिल्म रिलीज हो चुकी थी और उनकी फिल्म काय पो चे रिलीज होने को थी. या बस हुई थी और वो वायआरएफ आ रहे थे. न्यू टैलेंट बने थे. हमारे मैनेजर्स सेम थे उस वक्त भी. हम लोग…. YRF के जिम में इंट्रड्यूज हुए. और फिर कभी-कभी यहां वहां अवॉर्ड शोज पर मिलना जुलना होता था. हम लोग काफी अच्छे दोस्त थे. शायद साल में एक बार भी मिलते हों, पर पूरी बात करते थे. कि कैसा है सब कुछ? मतलब, पूरी. सारी अपनी दिक्कतें भी शेयर कर लेते थे उसी दौरान.

मुझे अच्छा लगता था तभी भी… लेकिन लगता था कि यार कुछ अलग है ये. कुछ अलग किस्म का लड़का है ये. इसके साथ ना.. बैठ कर बात करनी पड़ेगी. पूरी बात करनी पड़ेगी…. और फिर, अप्रैल 2019… 13 अप्रैल. सुशांत और मैं… रोहिणी अय्यर जी… की पार्टी पर मिले. वहां से हमारा रिश्ता फिर… असल में शुरू हुआ. और प्यार तो सुशांत ने बोला कि उसको एक ही दिन में हो गया. पर मैंने बोला….कि दो तीन महीने…. दो मुझे. मैं बताती हूं… ये आई लव यू जो वर्ड है, बहुत बड़ा है. मुझे क्या पता था कि इस आई लव यू वर्ड की सजा. मुझे अब तक इस तरह काटनी पड़ेगी.

हमने कभी ऐसे फॉर्मली शादी की बात नहीं की. जाहिर है कि… लॉन्ग टर्म… अब तो लग रहा है कि दूसरे जन्म तक भी चलेगा.

मई के मध्य के बाद से सुशांत कूर्ग, जो कि दक्षिण भारत में एक कस्बा है वहां, शिफ्ट होने की प्लानिंग और तैयारी कर रहे थे. उन्होंने अपने लॉयर… और अपने… घर में जो फ्लैटमेट्स हैं उन्हें, और अपने एक दूसरे दोस्त आयुष शर्मा को भी फोन करके पहले बीर शिफ्ट होने का उनका प्लान था. वो काफी कंसिस्टेंटली एक घर ढूंढ रहे थे. शिफ्ट होने के लिए.

NEET-JEE एग्जाम मुद्दा : ये राज्य खटखटायेगें सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा!

वो कूर्ग में शिफ्ट होना चाहते थे.

वह स्टारडम छोड़ने का बोल तो रहा था. पर मुझे लगा शायद… उसे लगा शायद कि वो 6 महीने वहां रुकेगा, फिर एक फिल्म करेगा और उसे एक बेस की तरह बना लूंगा. वो बहुत अलग था. वो बहुत ज्यादा इसमें… ये मुंबई लाइफ और सिटी लाइफ जैसे. वो इन सब चीजों का कोई बहुत बड़ा फैन नहीं था. उसे पहाड़, सुकून, खेती, ये उनके सपने थे. बल्कि ये हमारे सपने थे. कि हम कहीं और रहकर साल में एक फिल्म कर ही सकते हैं. मुंबई में… और क्या पता साथ ही कर लें तो… क्या ही बात हो.

 

8 जून के बारें में कहा,

सुशांत शिफ्ट होने की तैयारी कर रहे थे और आरोपों के विपरीत कि मैं नहीं उनको जाने दे रही थी. मैं… काफी अंडरस्टैंडिंग थी उस बात को लेकर और मुझे लगा कि अगर ये उसके लिए ठीक है तो.. जो मुझे अभी भी लगता है कि ये उसके लिए बेहतर होता. तो फिर ये ठीक है. लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप भी होता है. मैं कुछ महीने वहां बिता सकती हूं. कुछ महीने अपने घर पर बिता सकती हूं. और… चलता रहा पूरे लॉकडाउन के दौरान… जब तक सुशांत का डिप्रेशन फिर से उस पर हावी नहीं हो गया. इसमें अलग-अलग फेज थे… कभी वो ठीक होते थे. कभी वो ज्यादा डिप्रेस्ड होते थे. ये बायपोलर डिसऑर्डर था.

तो इस फेज में… वो बहुत जल्दी-जल्दी अप और डाउन होता था. मतलब तकरीबन रोज ही. ऐसे जैसे… मंडे अप, ट्यूजडे डाउन. कई बार उसी दिन पर भी. और मुझे बल्कि इस बात से बहुत घबराहट हो रही थी और इसी वजह से 3 जून को मैंने डॉक्टर कृसि छाबड़ा को संपर्क किया. उनके जो मनोचिकित्सक थे, कि आप प्लीज एक बार उनसे बात कीजिए. मुझे लग रहा है कि वो पिर से डिप्रेशन में जा रहा है. और पैरानोया भी हुआ है उसको. और मेरे पास वो चैट भी हैं.

RBI के पीछे न छुपे, खुद भी कुछ करें सरकार- SC

तो आप उनसे बात कीजिए और देखिए कि उन्हें किस तरह की दवाइओं की जरूरत है. 3 जून को सुशांत की डॉक्टर से बातचीत भी हुई. डॉक्टर को लगा कि हां उन्हें मेडिकेशन की जरूरत है. हां वो डिप्रेशन से जूझ रहा है. लेकिन सुशांत मेरे साथ बहुत अजीब बर्ताव कर रहा था. और बार बार मुझे कह रहे थे कि तुम…. घर जाओ. और ये घर जाओ, घर जाओ कहीं…. दूसरी जून…. बल्कि पहली जून से ही शुरू हो गया था. कि मुझे तो कूर्ग शिफ्ट करना ही है. तुम घऱ जाओ.

क्योंकि मुझे भी एंग्जायटी अटैक हो रहे थे. मई और जून के महीने में. और मेरी हालत भी देखकर सुशांत को अच्छा नहीं लग रहा था. वो कह रहा था कि जाओ, घर जाओ. ठीक और फिर मेरी मदद करो वापस आकर. तुम ही ठीक नहीं रहोगी तो मेरी हेल्प कैसे करोगी? तो 8 जून को मेरी एक थैरिपी सेशन बुक थी डॉक्टर सुजेन वॉकर के साथ. सुबह 11.30 बजे की. तो इससे ये साबित होता है कि मेरा कोई इरादा नहीं था 8 जून को जाने का.

Share.