रेवाड़ी दुष्कर्म: मुख्य आरोपी सहित तीन गिरफ्तार

0

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में 19 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में एसआईटी को बड़ी सफलता मिली है। एसआईटी ने तीन में से एक मुख्य आरोपी नीशु को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य मुख्य आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापामारी जारी है। एक आरोपी सेना का जवान है। रेवाड़ी मामले में नूह जिले के एसपी नाजनीन भसीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि एसआईटी ने दीनदयाल और डॉक्टर संजीव को पकड़ लिया है।

एसपी नाजनीन भसीन ने बताया कि दीनदयाल उस ट्यूबवेल का मालिक है, जहां यह घटना हुई। डॉक्टर संजीव भी इस मामले में शामिल थे। मुख्य आरोपी नीशु है। उसने ही पहले से प्लानिंग की थी और डॉक्टर को उसने ही बुलाया था। दो अन्य आरोपी पकंज जो सेना का जवान है और मनीष अब तक फरार है।

सब प्लानिंग से हुआ

एसपी भसीन ने कहा कि मामले में सेना का जवान भी शामिल था, लेकिन वह फरार है। हम उसे जल्द गिरफ्तार कर लेंगे। भसीन ने बताया कि इस मामले में 100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की गई थी। डॉक्टर संजीव को इस मामले में शामिल पाया गया क्योंकि वे अच्छी तरह जानते थे कि तीन लड़कों ने युवती को पकड़ रखा है। वह अंत तक शामिल रहा और उसने किसी को कुछ नहीं बताया। वहीं दीनदयाल को भी पता था कि उसके ट्यूबवेल पर क्या हो रहा है। जांच में सामने आया कि नीशु ने उससे फोन पर कमरे की ज़रूरत होने की बात कही थी। यह सब प्लानिंग के साथ हुआ।

एसपी का ट्रांसफर

दुष्कर्म की घटना सामने आने के बाद पुलिस पर लापरवाही के आरोप लग रहे थे, जिसके बाद रेवाड़ी के एसपी राजेश दुग्गल का ट्रांसफर कर दिया गया। राजेश दुग्गल के बाद राहुल शर्मा ने रेवाड़ी के नए एसपी के तौर पर कार्यभार संभाला है।

सहायता राशि लौटा दी

वहीं पीड़िता की मां ने सहायता राशि के तौर पर मिले दो लाख रुपए के चेक को लौटा दिया। पीड़िता की मां ने कहा कि मेरी बेटी की कीमत लगाई जा रही है। मुझे चेक नहीं, इंसाफ चाहिए। उन्होंने कहा कि बेटी को उचिक इलाज़ नहीं मिल रहा है। डॉक्टर बेटी से मिलने भी नहीं दे रहे हैं। उन्होंने बेटी के उपचार के लिए एम्स या मेदान्ता मेडिसिटी में रेफर करने की मांग की है।

Share.