मिट रहा हिमालय का अस्तित्व

1

हिमालय की हसीन वादियां सभी को अपनी तरफ आकर्षित करती हैं। बर्फ की सफ़ेद चादरों से ढंके पहाड़ जल्द ही पुरानी बातें हो जाएंगी। हिमालय पर फिर कभी बर्फ नहीं दिखाई देगी। हिमालय पर चढ़ी बर्फ की चादरों को हटाने का कार्य कर रहा है ब्लैक कार्बन(Glacier Melting Due To Black Carbon)। यह पता लगाया है वाडिया भू-विज्ञान संस्थान के वैज्ञानिकों ने। इन वैज्ञानिकों ने हिमालय के अस्तित्व पर मंडराते खतरे को महसूस किया और सचेत किया है।

वैज्ञानिकों ने एक रिपोर्ट तैयार की है, जिसके अनुसार यह ब्लैक कार्बन हिमालय के ग्लेशियरों (Glacier Melting Due To Black Carbon) को आहिस्ता-आहिस्ता नष्ट कर रहा है। हिमालय पर ब्लैक कार्बन की मात्रा में सामान्य से ढाई गुना वृद्धि हुई है। अब यह ब्लैक कार्बन 1899 नैनोग्राम हो गया है, जो हिमालय को बेहद नुकसान पहुंचा रहा है। यदि जल्द ही इसे नियंत्रित नहीं किया गया तो हिमालय का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। ब्लैक कार्बन हिमालय की बर्फ को पिघला देगा, जिससे न सिर्फ हिमालय का अस्तित्व ख़त्म होगा, बल्कि पूरी मानव सभ्यता और प्रकृति का अस्तित्व भी समाप्त हो जाएगा।

संस्थान के वैज्ञानिक डॉ. पीएस नेगी ने जानकारी दी कि उच्च हिमालयीन क्षेत्रों में अभी तक ब्लैक कार्बन मापा नहीं गया था। पहली बार यंत्र को गंगोत्री के चीढ़ बासा और भोज बासा क्षेत्र में लगाया गया, जिससे चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। पीएस नेगी का कहना है कि ब्लैक कार्बन को जल्द से जल्द नियंत्रित करना होगा नहीं तो यह सम्पूर्ण मानव सभ्यता और प्रकृति के लिए घातक साबित होगा।

किसी भी देश की ताकत और सम्मान का प्रतीक है तोप

खूबसूरत काश्मीर, जहां कभी नहीं रही शांति!

World Tourism Day  : भारत की इन खूबसूरत जगहों के हो जाएंगे कायल

Share.