मेट्रो रेल की बाधा बन रहे धार्मिक स्थल हटाएगा निगम

0

मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर इंदौर नगर निगम एक ही दिन में गंभीर हो गया है| एक दिन पहले मेट्रो रेल प्रोजेक्ट कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और अन्य डायरेक्टर्स ने प्रोजेक्ट से जुड़े पहले चरण के कामों को लेकर किए गए जमीनी निरीक्षण के बाद इंदौर नगर निगम ने अपने हिस्से के कामों को लेकर योजना बनानी शुरू कर दी है| निगम आयुक्त आशीषसिंह ने बताया कि मेट्रो प्रोजेक्ट की टीम मेट्रो के रूट अलाइनमेंट के पहले और दूसरे चरण का काम पूरा करेगी, तब तक निगम भी अपने हिस्से के कामों को गति से पूरा कर लेगा|

धार्मिक स्थल हटाएगा निगम

इंदौर नगर निगम आयुक्त आशीषसिंह ने बताया कि मेट्रो के पहले दो चरणों का काम अगले 6 माह में पूरा किया जा सकेगा| जब तक टेंडर को अंतिम रूप दिया जाएगा, तब तक निगम भी अपने हिस्से के काम को अंतिम रूप देगा| निगमायुक्त सिंह ने बताया की मेट्रो रूट्स पर आने वाले धार्मिक स्थलों को हटाना उसकी प्राथमिकता में शामिल है | इसके अलावा निगम को मेट्रो रुट पर आने वाली स्ट्रीट लाइट, सीवरेज, वाटर और नालों पर होने वाला सिविल वर्क जैसे कार्य प्राथमिकता के साथ पूरे किए जाएंगे| सिंह ने कहा कि उन सभी बिंदुओं को निगम ने दर्ज कर लिया है, जिन्हें समय सीमा में पूरा करना है|

मेट्रो ट्रेन की कवायद

मेट्रो ट्रेन के पहले चरण की कवायद के कारण प्रोजेक्ट में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए जाने की तैयारी की जा रही है| ये बदलाव टेंडर जारी होने से पहले किए जाएंगे। बताया जा रहा है की मेट्रो के लिए शेख हातिम तिराहे पर एलिवेटेड ब्रिज नाले के ऊपर से बनाया जाएगा जबकि हाई कोर्ट के पास से मेट्रो अंडरग्राउंड चलाए जाने की चर्चा पर बदलाव किया जा रहा है|  कंपनी के एडिशनल मैनेजिंग डायरेक्टर स्वतंत्रकुमार सिंह, डायरेक्टर टेक्निकल जितेंद्र दुबे, जीएम सिविल शोभा खन्ना, निगम कमिश्नर आशीष सिंह प्रोजेक्ट्स को लेकर निरीक्षण कर चुके हैं |

Share.