15 नॉन बैंकिंग फायनेंशियल कम्पनियों पर कसा शिकंजा

0

मध्यप्रदेश में आरबीआई ने 15 नॉन बैंकिंग फायनेंशियल कम्पनी के रजिस्ट्रेशन निरस्त कर दिए हैं। इस संबंध में भोपाल स्थित मंत्रालय में पिछले दिनों 35 वीं राज्य स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में चर्चा हुई थी। इसके बाद आरबीआई ने यह निर्णय लेते हुए नियम विरुद्ध काम कर रही कंपनियों पर कार्रवाई की है।जिन नॉन बैंकिंग फायनेंशियल कम्पनी के रजिस्ट्रेशन रद्द किये गये हैं। उनमें देवकी लीजिंग एण्ड फायनेंश लिमिटेड रिंग रोड इंदौर, कटनी की एमजीएस फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड, कटनी की पटेल निगम फायनेंश एण्ड इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड, उज्जैन की विश्वा गुलाब फायनेंशियल सर्विस प्रा. लि. हैं।

इसी तरह नरसिंहपुर की मनसाता फायनेंश एण्ड लीजिंग लिमिटेड, जबलपुर की शेर सिक्युरिटी लिमिटेड, इंदौर की एसएमजे सिक्युरिटीज एण्ड फायनेंश प्राइवेट लिमिटेड और इंदौर की ही चेयर फायनेंश एण्ड इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने जिन 15 वित्तीय कम्पनियों के रजिस्ट्रेशन निरस्त किये हैं उनमें कटनी की श्रंखला फायनेंश एण्ड इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड, इंदौर की श्री कांकरिया टी एण्ड फायनेंश कम्पनी लिमिटेड, जबलपुर की बी.जाजोदिया फायनेंशियल एण्ड मेनेजमेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड, इंदौर की उत्तम लीजिंग एण्ड केपीटेल सर्विसेस लिमिटेड, इंदौर की चोरदिया केपीटल मार्केट लिमिटेड, इंदौर की महिमा ऑटो एण्ड फायनेंस लिमिटेड और ग्वालियर की सोनाली केपीटल प्राइवेट लिमिटेड हैं।

इसके अलावा रिजर्व बैंक ने नागरिकों को सतर्क भी किया है कि रिजर्व बैंक कभी-भी मोबाइल फोन पर किसी तरह के ई-मेल, एसएमएस और फोनकॉल्स कर व्यक्तिगत जानकारी जैसे बैंक एकाउण्ट डिटेल्स, पासवर्ड और अन्य जानकारी नहीं लेता है। नागरिकों को इस तरह के फोनकॉल्स से सावधान रहना चाहिये।

Share.