पुराने महल की दीवार गिरी, रानी की मौत

0

मध्यप्रदेश के रतलाम में एक बड़ा हादसा हो गया। यहां पुराने महल के गिरने से डोडिया राजवंश की रानी की मौत हो गई। हादसा रतलाम के सुखेड़ा गांव में बीती रात हुआ। इस दीवार में दबाकर 85 वर्षीय रानी ज्योतिकुंवर की मौत हो गई। हादसे के वक़्त गढ़ी (महल) में कोई भी नहीं था। दीवार गिरने से 85 वर्षीय रानी  भी मलबे में दब गईं, जिससे  उनकी मौत हो गई। वे इस महल में अकेली रहती थीं।

सोमवार शाम घर का काम निपटाने के बाद कर्मचारी अपने घर चले गए थे, इसके बाद  रात 8 बजे राजमहल के आगे का हिस्सा भरभरा कर गिर गया। पड़ोस में रहने वाली रानी की कर्मचारी कमलाबाई ने जब हादसा देखा तो शोर मचाया। कमलबाई ने ग्रामीणों की मदद से रानी को ढूंढने की कोशिश की, लेकिन वे मलबे में दबी मिलीं। ग्रामीणों ने मलबा हटाकर रानी को बाहर  निकाला, लेकिन तब तक वे दम तोड़ चुकी थीं।

रानी ज्योतिकुंवर डोडिया राजवंश की रानी थी। उनके पुत्र का उदयपुर में प्रॉपर्टी का व्यवसाय है। सुखेड़ा ग्वालियर स्टेट का हिस्सा है, जहां डोडिया राजवंश का राजमहल है। कई वर्षों से रानी अपने इस स्टेट में अकेली ही निवास कर रही थीं। सुखेड़ा गढ़ी के अंतर्गत 21 राजपूतों के ठिकाने आते हैं।

रानी का पोस्टमार्टम करने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीँ दीवार किन कारणों से गिरी इस बाद की जांच भी पुलिस ने शुरू कर दी है।

Share.