पुजारी हत्याकांड: राजस्थान सरकार ने किया 10लाख के मुआवजे का ऐलान, परिजन ने किया धरना समाप्त

0

लाइव अपडेट: राजस्थान सरकार ने मानी परिवार की मांग.

10 लाख के मुआवजे का ऐलान

एसडीम ओपी मीणा, तहसीलदार दिनेश चंद्र मौके पर पहुंचे.

राज्यसभा सांसद  डॉक्टर किरोड़ी मीणा से धरने को लेकर बातचीत .

परिवार को अनुबंध पर नौकरी, इंदिरा आवास, 10 लाख की आर्थिक सहायता के साथ साथ आरोपियों की गिरफ्तारी का  आश्वासन

परिजनों का धरना खत्म

इससे पहले-

राजस्थान के करौली में पुजारी को जिंदा जलाकर मार दिया जाने का मामला सामने आया है लेकिन अब इस मामले में न्याय की गुहार करते हुए जलाकर मार दिए गए पुजारी के परिजनों ने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया है. पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने अपनी मांगे ना मान लिए जाने तक शव के दाह संस्कार से साफ इंकार किया है.पुलिस ने अब तक मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

इस बीच, प्रशासन ने पुजारी के परिजनों से अंतिम संस्कार किए जाने की बात कही तो परिजन इसे साफ मुकर गए.घटना की जांच में जुटे करौली के एसडीएम ओम प्रकाश मीणा ने कहा कि पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने चौथी डिमांड भी सामने रखी है. हम सीनियर अफसरों के जरिये सरकार को उनकी मांग के बारे में बताएंगे. हम परिजनों से अपील करते हैं कि वे दाह संस्कार करें क्योंकि शव को रखे हुए दो दिन हो चुके हैं.

सूत्रों के मुताबिक पुजारी के रिश्तेदार ललित ने कहा, ‘जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होतीं, हम दाह संस्कार नहीं करेंगे. हम चाहते हैं कि 50 लाख रुपये मुआवजा और एक सरकारी नौकरी मिले. सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और आरोपियों का समर्थन करने वाले पटवारी और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. हम सुरक्षा चाहते हैं.’बता दें कि राजस्थान के करौली में दबंगों ने पुजारी के ऊपर पहले पेट्रोल छिड़क कर उसे जिंदा जला दिया था.इलाज के दौरान जयपुर के सवाई माधो सिंह अस्पताल में पुजारी की मौत हो गई. अब इस मामले पर सियासत भी गरमा गई है.

Share.