गुलनाज मामले पर राहुल का ट्वीट

0

बिहार में नीतीश कुमार ने सातवीं बार मुख्यमंत्री पद की कमान संभाली है, लेकिन उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती आज भी कानून और व्यवस्था को सुचारु रुप से पूरे सुबे में लागू करना है.ताजा मामले की बात करें तो हाजीपुर में छेड़छाड़ पीड़िता की मौत के बाद पूरे इलाके में तनाव पुलिस और प्रशासन के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहा है.पीड़िता के परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस कार्रवाई में ढिलाई कर रही है और आरोपी 15 दिन बाद भी फरार हैं. पुलिस ने चांदपुरा थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया है.

इस मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि चुनावी फायदे के लिए इस अपराध को छुपाया गया – कुशासन पर ताकि सुशासन की नींव रखी जा सके. राहुल ने कहा, ‘किसका अपराध ज़्यादा ख़तरनाक है, जिसने ये अमानवीय कर्म किया? या जिसने चुनावी फायदे के लिए इसे छुपाया ताकि इस कुशासन पर अपने झूठे ‘सुशासन’ की नींव रख सके?’

क्या है पूरा मामला
गांव के दबंगों की गलत हरकतों का विरोध करना एक लड़की को इतना महंगा पड़ा कि वह 15 दिन तक जले हुए जिसमें को लेकर अस्पताल में पड़ी रही और अंत में उसने दम तोड़ दिया.
परिवार के मुताबिक तीन लड़कों ने उस पर केरोसीन डालकर माचिस लगा दिया.उधर आरोपी के घरवालों का कहना है कि उन्हे फंसाया जा रहा है. पुलिस पर इस मामले में लापरवाही के गंभीर आरोप लग रहे हैं , जिसके बाद एक SHO को निलंबित कर दिया गया है. वैशाली के एसपी मनीष ने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया गया है. तीन लोग नामजद हैं, जिनकी तलाश में छापेमारी की जा रही है. इसके साथ ही तकनीकी अनुसंधान के लिए एक स्पेशल टीम बना अपराधियों की खोज की जा रही है.

पुलिस कि नींद टूटने के बाद 17 दिन आता था मुख्य आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया गया है

Share.