पुणे पुलिस ने पूछा, ‘आपने सिंदूर क्यों नहीं लगाया’

1

भीमा-कोरेगांव में जनवरी महीने में हुई हिंसा में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। पुणे पुलिस को एक आरोपी के घर से ऐसा पत्र मिला था, जिसमें राजीव गांधी की हत्या जैसी प्लानिंग का ही जिक्र किया गया था। इस पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने की बात भी कही गई थी। जांच के दौरान छापे के बाद अब तक कवि वरवरा राव, अरुण परेरा, गौतम नवलखा, वेरनोन गोन्जाल्विस और सुधा भारद्वाज को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपियों को सेक्शंस 153 A, 505(1) B, 117, 120B, 13, 16, 18, 20, 38, 39, 40 और UAPA (गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम एक्ट) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इसी तहकीकात में पुणे पुलिस ने जांच के दौरान भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ़्तार किए गए एक्टिविस्ट वरवर राव की बेटी से ऐसे सवाल पूछे कि सब हैरत में पड़ गए। पुलिस ने पूछा कि, “आपके पति दलित हैं इसलिए वे किसी परंपरा का पालन नहीं करते हैं,  लेकिन आप तो ब्राह्मण हैं फिर आपने कोई गहना या सिंदूर क्यों नहीं लगाया है? आपने एक पारंपरिक गृहिणी की तरह कपड़े क्यों नहीं पहने हैं? क्या बेटी को भी पिता की तरह होना ज़रूरी है?”

पुलिस ने वरवर राव की बेटी और दामाद के घर पर भी छापे मारे थे। वहीं वरवर राव के दामाद के.सत्यनारायण ने बताया कि पुलिस ने उनसे पूछा, ”आपके घर में इतनी किताबें क्यों है? क्या आप सारी किताबें पढ़ते हैं? आप इतनी किताबें क्यों पढ़ते हैं? आप मार्क्स और माओ के बारे में किताबें क्यों पढ़ते हैं? आपके घर में फ़ुले और आंबेडकर की तस्वीरें हैं, लेकिन देवी-देवताओं की क्यों नहीं?” उन्होंने बताया कि पुलिस ने उनसे कुछ अच्छा व्यवहार नहीं किया। साथ की ही उन्होंने पुलिस पर उनसे और उनकी पत्नी से ‘अपमानजनक और मूर्खतापूर्ण सवाल’ पूछने का आरोप भी लगाया है।

Share.