पीसी शर्मा एवं बाला बच्चन का प्रमोशन

0

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक सप्ताह पूर्व मंत्रियों के बीच विभाग का बंटवारा कर दिया था। गौरतलब है कि विभागों के बंटवारे को लेकर काफी असमंजस की स्थिति रही थी| इसके बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद सभी मंत्रियों को विभाग बांट दिए गए। इस पूरी प्रक्रिया के बाद अब मंत्रियों के प्रमोशन का दौर शुरू हो गया है। कल डॉ. गोविंद सिंह को सहकारिता के साथ सामान्य प्रशासन विभाग भी दिया गया था। अब विधि मंत्री पीसी शर्मा एवं गृहमंत्री बाला बच्चन को भी कुछ नए विभाग दिए गए है। 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जनसंपर्क और तकनीकी शिक्षा सहित 10 विभाग पहले अपने पास रखे थे। परंतु अब सीएम कमलनाथ ने मंत्री पीसी शर्मा को जनसंपर्क विभाग तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भी सौंप दिया है। इसके अलावा गृहमंत्री बाला बच्चन को तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। गृह मंत्रालय बाला बच्चन के अलावा सीएम कमलनाथ से अटैच है।

बता दें कि मंत्रियों के नामों का चयन और विभागों के वितरण के बाद कुछ विवाद सामने आए थे। माना जा रहा था कि सीएम कमलनाथ ने अपने पास जो विभाग बचाकर रखे हैं, वे नए मंत्रियों को दिए जाएंगे। कांग्रेस के वरिष्ठ विभाग एदल सिंह कंसाना, केपी सिंह, बिसाहूलाल सिंह सहित 3 निर्दलीय विधायक, 2 बसपा एवं 1 सपा विधायक मंत्री पद के इंतज़ार में हैं।

कमलनाथ ने वित्त विभाग (Jaivardhan Singh Not Got Finance Ministry) तरुण भनोट को दिया गया है। दिग्विजय अपने बेटे को वित्त विभाग दिलवाना चाहते थे। कुछ वरिष्ठ नेता इसके पक्ष में नहीं थे। इसको लेकर लंबी खींचतान चलती रही। मामला दिल्ली तक पहुंच गया। बड़े नेताओं का कहना था कि यदि वित्त विभाग जयवर्द्धन को दिया गया तो पर्दे के पीछे दिग्विजय होंगे और उनके बेटे का कद कई वरिष्ठ नेताओं से ज्यादा बढ़ जाएगा।

-अंकुर उपाध्याय

तो क्या शिवराज होंगे नेता प्रतिपक्ष…

क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा तस्कर

VIDEO : कमलनाथ के मंत्री ने कहा, नहीं सुनी तो…

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.