लालू यादव बने पाकिस्तान पीएम के गुरु

1

अपनी हाजिरजवाबी और मसखरेपन के लिए पहचाने जाने वाले लालूप्रसाद यादव राजनीति के महारथियों में गिने जाते हैं। सड़क से लेकर संसद तक गंभीर मुद्दों पर उनका मसखरापन माहौल को हल्का बनाने के लिए बहुत होता है। अभी तक कई उपाधियों से नवाजे जा चुके लालूप्रसाद यादव इस बार नई उपाधि हासिल कर बैठे हैं।  जी हां, यह उपाधि उन्हें पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के एक नेता सैयद खुर्शीद शाह ने दी है। उनके अनुसार, “नए पीएम इमरान खान का भाषण सुनकर ऐसा लगा, जैसे वे हिंदुस्तानी नेता लालू यादव को अपना गुरु मानते हैं।”

रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के एक नेता ने प्रधानमंत्री इमरान खान की तुलना लालू प्रसाद यादव से की है।  शपथ समारोह के दौरान नेशनल असेंबली में दिए इमरान के भाषण पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पीएम का संबोधन उस स्तर का नहीं था, जैसा प्रधानमंत्री का होना चाहिए।

प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान जब नेशनल असेंबली को संबोधित कर रहे थे, तभी वहां मौजूद कुछ विपक्षी सदस्यों ने हंगामा कर दिया और धरने पर बैठ गए।  इस पर इमरान भड़क गए और संबोधन के दौरान ऊंची आवाज में बात करने लगे। अपने नए प्रधानमंत्री  के इस बर्ताव पर अफसोस जताते हुए शाह ने कहा, “अगर यह नया पाकिस्तान है, तो खुदा हम पर रहम बख्शे|”

25 जुलाई को हुए आम चुनाव में  116 सीटें जीतने के बाद इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी सबसे बड़ी पार्टी उभरकर सामने आई है।  शुक्रवार को इमरान खान ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। उन्होंने शाहबाज़ शरीफ को भारी मतों से मात दी। इमरान खान को 176 वोट मिले जबकि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ को 97 वोट ही हासिल हुए।

शपथ लेने के बाद इमरान खान ने पाकिस्तान में आमूलचूल बदलाव लाने की शपथ ली और कहा कि पाकिस्तान के इतिहास में पिछले 70 साल से इस दिन का इंतजार था।

VIDEO : क्यों गोदरेज ने इमरान खान से कराया था Cinthol का विज्ञापन?

Share.