पोस्टपर्सन हो सकता है डाकि‍या का नया नाम

0

दशकों से पत्र -सन्देश लेकर आने आने वाले को डाकिया के नाम से जाना जाता है, लेकिन अब यह नाम बदलने वाला है। अब डाकिया को पोस्टपर्सन के नाम से बुलाया जाएगा। भारत सरकार डाकिया को पोस्टपर्सन नाम देने को लेकर विचार कर रही है। इस नाम का प्रस्ताव  सूचना प्रौद्योगिकी पर बनी संसदीय समिति ने दिया है। इस सुझाव को लेकर डाक विभाग ने समिति को अपना जवाब भेजा है।

नाम बदलने के इस सुझाव पर विभाग ने कहा है कि पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने के प्रस्ताव पर अभी विचार किया जा रहा है। समिति को दिए गए जवाब में विभाग ने यह भी बताया है कि सामान्य रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द डाकिया लिंग-निरपेक्ष है। संसद की जिस स्थायी समिति ने डाक विभाग से पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने की सिफारिश की है, उस समिति की अगुवाई भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इस रिपोर्ट को मंगलवार के दिन संसद में रखा गया। विभाग की अनुदान मांगों पर अपनी इस रिपोर्ट में समिति ने कहा कि डाक विभाग में लोगों तक उनकी डाक पहुंचाने वालों की नामावली बनाने की ज़रूरत है। समिति ने विभाग की अनुदान मांगों पर पेश की गई अपनी इस रिपोर्ट में कहा है कि डाक विभाग में लोगों तक उनकी डाक पहुंचाने वाले लोगों की एक नामावली बनाई जानी चाहिए।  इसी बात को ध्यान में रखकर समिति ने पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने का सुझाव दिया है।

Share.