भोपाल:पुलिसवालों ने महिला से किया सामूहिक दुष्कर्म

0

पुलिसवाले जिन्हें जनता की रक्षा करने और कानून व्यवस्था बनाए रखने का जिम्मा सौपा जाता है| जब वही पुलिसवाले खुद भक्षक बन जाए, तो जनता किस पर विश्वास करेगी? कहां न्याय की गुहार लगाएगी? जहां एक ओर दुष्कर्म जैसी घटनाओं को रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं, वहीं मध्यप्रदेश की राजधानी में पुलिसवालों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर इंसानिय को शर्मसार कर दिया|

दरअसल, भोपाल में ट्रैफिक पुलिसकर्मी और एसएएफ के जवान ने मिलकर एक महिला को अपना शिकार बनाया| महिला की शिकायत के बाद दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया| विदिशा की रहने वाली महिला ने बताया कि वह भोपाल में गणेश मंदिर छोला क्षेत्र में अपनी मां के साथ रहती है| 22 वर्षीय महिला का बाल विबाह हो गया था, 5 साल पहले पति से विवाद के कारण वह अपनी मां के साथ रह रही है| 14 जुलाई को वह विदिशा के मनोरा गांव में भरने वाले मेले में गई थी, जहां उसकी पहचान ट्रैफिक पुलिस के जवान योगेन्द्र नरवरिया से हुई|

दोनों के बीच गहरी दोस्ती हो गई, इसके बाद योगेन्द्र ने महिला को हनुमानगंज थाना इलाके लॉज में मिलने बुलाया| योगेन्द्र ने युवती को शांति लॉज में बुलाया| पहले उसे अच्छा खाना खिलाया और फिर शादी का वादा करके शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की, जब युवती ने विरोध शुरू किया तो बलपूर्वक काबू करके उसका दुष्कर्म किया|

योगेन्द्र का मित्र और एसएएफ का जवान भी कमरे के बाहर ही था| इसके बाद दोनों ने महिला के साथ घटना को अंजाम दिया| इसके बाद दोनों ने महिला को जान से मारने की घमकी देकर घर छोड़ दिया| इसके बाद महिला ने अपनी मां के साथ जाकर दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया| इस मामले प्रदेश में बढ़ते अपराधों की पोल खोल दी है|

Share.