लोग आंसू बहा रहे थे, मामा जश्न मना रहे थे

0

इंदौर में शनिवार को हुए हादसे के बाद रविवार को पूरा शहर शोक में डूबा था, वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री जश्न मनाने में मशगूल थे| इंदौर को अपने सपनों का शहर बताने वाले मुख्यमंत्री ने हादसे पर दुःख तो जताया, लेकिन कुछ ही देर बाद अपने बंगले पर नेताओं का जमघट भी लगा लिया| मकसद सिर्फ एक था, प्रदेश की राजनीति में सिन्धी समाज के वोटबैंक को साधना| इसके लिए मुख्यमंत्री ने इस रविवार चेटीचंड महोत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया|

आयोजन में प्रदेश के सिन्धी समाज के कई नेता पहुंचे, लेकिन इंदौर के सिन्धी समाज द्वारा कार्यक्रम का बहिष्कार करने के बाद भी कुछ नेता मुख्यमंत्री को साधने के चक्कर में भोपाल पहुंच ही गए| इनमें इंदौर में सिन्धी समाज में बड़े पदों पर बैठे कुछ नेता शामिल थे|

कार्यक्रम में इन्दौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शंकर लालवानी,  नगर निगम भोपाल के अध्यक्ष सुरजीतसिंह चौहान, विधायक अशोक रोहाणी, सिन्धु सभा के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष लधाराम नागवानी,  मध्यप्रदेश सिन्धु सभा के प्रदेशाध्यक्ष भगवानदास सबनानी, सिन्धी पंचायत भोपाल के अध्यक्ष भगवानदेव इसराणी, पूर्व विधायक शिवा कोटवानी, विभिन्न धर्म गुरु, संत-महात्मा, प्रबुद्ध नागरिक और प्रदेश के विभिन्न अंचलों के सिन्धी समाज के सदस्य उपस्थित रहे|

Share.