लोकसभा में सवर्ण आरक्षण बिल पास

0

आज संसद के शीतकालीन सत्र का आज 17वां ( Parliament Winter Session Day 17) दिन है| कहा जहां लोकसभा में राफेल मुद्दे पर जमकर बहस हुई वहीं आज सव्रों को दिया जा रहा आरक्षण अहम मुद्दा बना हुआ है| लोकसभा में आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण से जुड़ा संविधान संशोधन बिल पेश किया जाएगा| इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सोमवार को संवैधानिक संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी दे दी| भाजपा के समर्थन का आधार मानी जाने वाली अगड़ी जातियों की लंबे समय से मांग थी कि उनके गरीब तबकों को भी आरक्षण का लाभ दिया जाए|

 Image result for लोकसभा

Parliament Winter Session Day 17 LIVE Updates :

रात 10.13 बजे

केंद्रीय कैबिनेट ने सोमवार 7 जनवरी को लोकसभा में ”आर्थिक रूप से कमजोर” तबकों के लिए, 10 फीसदी आरक्षण देने का प्रस्ताव पेश किया। लोकसभा में सवर्ण आरक्षण संशोधन बिल को पास करने के लिए 323 सदस्यों से वोटिंग करवाई गई। इन सदस्यों में से 323 सदस्यों ने बिल के पक्ष में वोट डाला, जबकि 3 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया। वोटिंग के बाद इस बिल को मंजूरी दे दी गई।

रात 9.37 बजे

केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत ने 124वें संविधान संशोधन बिल पर चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि हमारी सरकार ने सत्ता में आते ही सबका साथ और सबका विकास का वादा किया था। प्रधानमंत्री ने पहले ही भाषण में गरीबों के कल्याण की बात कही थी, आज ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि सामान्य वर्गों के गरीब लोगों का आरक्षण देने का काम हो रहा है।

रात 9:36 बजे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में पहुंच चुके हैं। कुछ देर में संविधान संशोधन बिल को लोकसभा से पारित किया जाएगा, उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी सदन में मौजूद हैं।

रात 9.33 बजे

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मैं इस बिल का विरोध करता हूं। यह संविधान में फर्जी है। यह बीआर अंबेडकर का अपमान है। यह संविधान की विचारधारा के खिलाफ है।

रात 9.31 बजे

भाजपा के सांसद हुकुमदेव नारायण यादव ने कहा कि कट्टरपंथी को छोड़ उदारवादी बनकर सोचने की जरुरत है और ये विधेयक इसी का परिणाम है।

रात 9.29 बजे

रामदास आठवले ने कहा कि आज मुझे बहुत अच्छा हो रहा है फील, क्योंकि लोकसभा में पास हो रहा है ये बिल, नरेन्द्र मोदी जी की मजबूत हो रही है हील, क्योंकि राफेल में नहीं है कोई गलत डील, नरेन्द्र मोदी जी का था अच्छा लक्षण, इसलिए मिल रहा है गरीबों को आरक्षण।

रात 9.0 बजे

आरपीआइ के सांसद और मंत्री रामदास अठावले ने एक कविता पढ़कर बिल का समर्थन किया और नरेंद्र मोदी सरकार की प्रशंसा की।

रात 8.52 बजे

आरएसपी सांसद एन के प्रेमचंद्रन ने कहा कि हम बिल का समर्थन करते हैं लेकिन सरकार की मंशा पर सवाल है।

रात 8.29 बजे

भाजपा के नंद कुमार चौहान ने कहा कि यह बिल लाकर सरकार ने यह संदेश दिया है कि यह सरकार सबका ख्‍याल रखती थी।

रात 8.19 बजे

कांग्रेस के दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि हम इस बिल का समर्थन करते हैं। इस बिल को लेकर सरकार के नीयत पर सवाल खड़ा होता है।

रात 8.14 बजे

रालोसपा उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि मुझे खुशी है कि ऊंची जाति के लोग अब इसके बाद गाली नहीं देंगे। आरक्षण से आर्थिक स्थिति में सुधार नहीं आता है।

रात 8.06 बजे

आप के सांसद भगवंत मान ने कहा कि पहली नजर में यह बिल चुनावी स्‍टंट हैं।

रात 8.02 बजे

भाजपा के निशिकांत दुबे ने कहा कि मैं शहर में रहता था, मेरी बहन गांव में रहती है। मेरी बड़ी बहन ने मुझसे तीन साल बाद हाईस्‍कूल पास किया।

रात 7:59 बजे

भाजपा के निशिकांत दुबे ने कहा कि 8 जनवरी बहुत ऐतिहासिक दिन है। मेरे जैसे परिवारों के लिए आज होली-दीवाली है।

रात 7.55 बजे

राजद सांसद जयप्रकाश यादव ने कहा कि दलितों-अतिपिछड़ों को 85 फीसदी आरक्षण दीजिए, बाकी आप ले जाइए।

रात 07:54 बजे

राजद सांसद जयप्रकाश यादव ने कहा कि हमारे नेता लालू प्रयाद यादव कहते थे कि जातीय गणना कराओ। वो कहते थे जिसकी जितनी भागेदारी, उसकी उतनी हिस्‍सेदारी।

रात 7.23 बजे

बीजेडी सांसद भर्तृहरि महताब ने कहा कि समाज में सभी तरफ काफी लोग गरीब हैं और उनको नौकरी और शिक्षा क्षेत्र में आरक्षण की जरूरत है।

रात 7.20 बजे

सीपीएम ने बिल को ऐतिहासिक बताया लेकिन सरकार की मंशा पर सवाल उठाया।

रात 7 बजे

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि कल तक आरक्षण का विरोध करने वालों को भी 10 फीसदी आरक्षण मिल रहा है तो इसमें क्या गलत है, इससे किसी का हक भी नहीं मारा जा रहा है।

शाम 6.43 बजे

केंद्रीय मंत्री रामबिलास पासवान ने कहा कि देश में दो तरह के लोग हैं। धनी-गरीब। आजादी के बाद ऊंची जाति के काफी लोग गरीब हो गए हैं। सभी लोगों को बराबर अवसर मिलना चाहिए।

शाम 6.32 बजे

शिवसेना के सांसद आनंद अडसुल ने पार्टी इस बिल का समर्थन करती है। एससी-एसटी-ओबीसी के अलावा बड़ी संख्‍या में ऐसे लोग हैं, जिनकी आर्थिक रूप से स्थिति ठीक नहीं है।

शाम 6.20 बजे : TMC सांसद ने उठाए सवाल

लोकसभा की कार्यवाही के दौरान TMC सांसद सुदीप बंदोपाध्याय भाजपा सरकार पर सवाल उठाया| उन्होंने कहा कि अब जब सरकार के कार्यकाल के केवल 100 दिन के लगभग बचे है तब बिल क्यों लाया जा रहा है|

शाम 6.05 बजे : सांसद ने उठाया सवाल

AIADMK  सांसद एम थंबी दुरई ने कहा कि 10% आरक्षण का मतलब क्या है? उन्होंने कहा कि 50% को बढ़ाकर पहले 69% किया जाए|

शाम 5.55 बजे : कांग्रेस की परीक्षा का दिन

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की आज परीक्षा है कि जो चुनावी घोषणापत्र में उन्होंने लिखा है उसे पूरे मन से समर्थन देते हैं या नहीं|

शाम 5.40 बजे : जाति के आधार पर आरक्षण है लेकिन इस बिल में आर्थिक आधार पर आरक्षण की बात 

बिल के बारे में वित्त मंत्री ने कहा कि शुरुआत में जो संविधान बनाया गया था, उसमें सेक्युलर शब्द नहीं था बाद में जोड़ा गया लेकिन उसमें दो बेहद अहम शब्द थे, न्याय और समान अवसर उपलब्ध कराना| अभी जाति के आधार पर आरक्षण है लेकिन इस बिल में आर्थिक आधार पर आरक्षण की बात कही गई है|50% का आंकड़ा  सामाजिक रूप से पिछड़ों के लिए आर्थिक रूप से पिछड़ों के लिए नहीं| यदि इसका समर्थन कर रहे हैं तो खुलकर करें|समर्थन के साथ शिकवा शिकायत न करें|

शाम 5.33 बजे : वित्त मंत्री कर रहे हैं चर्चा

Image result for वित्त मंत्री

सवर्णों  को 10% आरक्षण दिए जाने को लेकर सदन में वित्त मंत्री अरुण जेटली चर्चा कर रहे हैं|

शाम 5.32 बजे : हम बिल के खिलाफ नहीं है, लेकिन..

आरक्षण बिल पर बोलते हुए कांग्रेस के केवी थॉमस ने कहा कि हम बिल के खिलाफ नहीं है, लेकिन हमारी पार्टी की मांग है कि बिल को पहले जेपीसी में भेजा जाए क्योंकि यह काफी अहम बिल है|संविधान में सभी को समानता की बात कही गई है और आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग को फायदा पहुंचाने की कोशिश इस बिल के जरिए की जा रही है|

शाम 5.25 बजे : स्पीकर का जवाब

सीपीएम के मोहम्मद सलीम  के बयान के बाद  स्पीकर ने कहा कि समय तक करना चेयर का काम है और आप लोग सहमत हों तो 2 घंटे के लिए सदन की कार्यवाही को बढ़ा दिया जाए|

शाम 5.23 बजे : बिल का विरोध

लोकसभा में बिल का विरोध करते हुए सीपीएम के मोहम्मद सलीम कहा कि क्या बिजनेस एडवाइजरी कमेटी में इस बिल के लिए समय तय किया गया था|

शाम 5.20 बजे : कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों के लिए यह बिल

थावर चंद गहलोत ने कहा कि भारत सरकार और राज्य सरकार की सेवाओं में 10 फीसदी आरक्षण देने का अधिकार होगा| इसके अलावा निजी क्षेत्र की नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों को 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा| पहले भी इस तरह का आरक्षण देने की कोशिश की गई थी, लेकिन संविधान में संशोधन के बगैर ऐसा नहीं किया जा सकता| संविधान में बदलाव के जरिए ही आरक्षण देना मुश्किल है ताकि बाद में कोई भी सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती नहीं दे सके|”

शाम 5.10 बजे : सवर्णों के आरक्षण बिल पर बहस शुरू

सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत सामान्य वर्ग के लोगों के लिए आरक्षण से जुड़े 124वें संविधान संशोधन बिल पर बोल रहे हैं| मंत्री ने कहा कि लंबे समय से आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों के लिए आरक्षण की मांग की जा रही है| गहलोत ने कहा कि हम सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को आर्थिक मदद देते हैं लेकिन वह पर्याप्त नहीं है| इसलिए हमारी सरकार ने सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को मुख्यधारा में लाने के लिए यह संविधान संशोधन बिल लेकर आई है|

शाम 5.05 बजे : नागरिकता देने की वकालत की गई

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, “पहले भी इन देशों के अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता देने की वकालत की गई है| असम में कुछ समुदायों को आदिवासी दर्जा देने की मांग की जा रही थी जिसे मान लिया गया है| यह बिल सिर्फ असम के लिए नहीं है बल्कि इन छह देशों से आने वाले नागरिकों को पूरे देश में काम करने और रहने का अधिकार है| यदि कोई ईसाई भी भारत का मूल निवासी कभी रहा है तो उसे भी हिन्दू, बौद्ध, सिख, जैन की तरह नागरिकता दी जाएगी|”

दोपहर 4.55 बजे : राजनाथ सिंह का जवाब

राजनाथ सिंह ने कहा कि असम के लोगों के बीच इस बिल को लेकर जो बातें फैलाई जा रही हैं वो पूरी तरह गलत हैं| असम पर किसी तरह का बोझ नहीं आने दिया जाएगा, बल्कि पूरा देश इस बोझ को सहने के लिए तैयार है|  देश का विभाजन धर्म के आधार पर हुआ, यह काफी दुखद था, लेकिन पाकिस्तान और बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों को अधिकार नहीं दिए गए| अब जब मजहब के आधार पर विभाजन हो गया तब इन देशों के अल्पसंख्यक कहां जाकर रहें| धार्मिक आधार पर नागरिकता नहीं दी जा रही है बल्कि पाकिस्तान के बहुसंख्यकों को  भारत में नागरिकता का प्रोटोकाल है|

दोपहर 4.45  बजे : मीनाक्षी लेखी का बयान

Image result for भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी

दोपहर 4.36 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही एक दिन बढाने पर प्रदर्शन 

 

 

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि 1947 की आजादी के बाद इस देश में दो और देश बने और वहां हिन्दुओं की क्या स्थिति है वह किसी से छुपी नहीं है| उन दोनों ही मुल्कों में हिन्दु समुदाय की संख्या लगातार घटी है| उन्होंने कहा कि इनमें से एक देश में कई वाहियात हरकतें हुई हैं साथ ही असम में तुष्टीकरण की राजनीति की वजह से मुस्लिमों की संख्या में तेजी से बढ़ावा हुआ है| यह कानून गैर कानूनी घुसपैठ रोकने, शरणार्थियों के लिए लाया गया है|

दोपहर 4.35 बजे : सियासी फायदे के लिए लाया जा रहा बिल

लोकसभा में AIMIM सांसद असद्द्दीन ओवैसी ने कहा कि यह बिल लोकतंत्र के खिलाफ है और सरकार को संविधान का लिहाज रखना चाहिए| इस बिल को बनाने वाले टू नेशन थ्योरी के समर्थक दिखते हैं| सियासी फायदे के लिए यह बिल लाया जा रहा है लेकिन यह देश के हित में कतई नहीं है| मजहब की बुनियाद पर नागरिकता दी जा रही है और यह देश की तौहीन है| इस बिल से मुसलमानों से दुश्मनी वाली नीति साफ दिखाई दे रही है|

दोपहर 4.25 बजे : धर्म के आधार पर राजनीतिक महल खड़ा कर रहे हैं

आरजेडी सांसद जप्रकाश यादव ने बिल के विरोध में बोलते हुए कहा कि आप धर्म के आधार पर राजनीतिक महल खड़ा कर रहे हैं जो जरूर गिर जाएगा| पूर्वोत्तर के राज्यों में इस बिल से गलत संदेश जा रहा है और धर्म के आधार पर नागरिकता देना बहुत ही खतरनाक है| आप एक को नागरिकता दे रहे हैं जबकि दूसरे को घुसपैठिया कहकर देश से भगा रहे हैं|

दोपहर 4.20 बजे : असम में इस बिल के खिलाफ बहुत गुस्सा है

लोकसभा में AIUDF के बदरुद्दीन अजमल ने बिल के खिलाफ कहा, “असम में इस बिल के खिलाफ बहुत गुस्सा है| यदि सरकार 2019 के चुनाव की वजह से इस बिल को लेकर आई है तो समझ ले की इससे असम के लोगों के दिलों में चोट पहुंच रही है| यह बिल संविधान के खिलाफ है क्योंकि संविधान धर्म और जाति के मुताबिक फैसला नहीं करता| सरकार को लाखों असमियों का दर्द समझना चाहिए| वोट के लिहाज से आप बिल के जरिए खुश कम लोगों को कर पाएंगे लेकिन नाराजगी ज्यादा लोगों की मोल ले रहे हैं|”

दोपहर 4.00 बजे : विकास कैसे हो यह अमेरिका से सीखना चाहिए

समाजवादी पार्टी के मुलायम सिंह यादव ने कहा कि देश का विकास कैसे हो यह अमेरिका से सीखना चाहिए, क्योंकि वह बहुत गरीब देश था| जिस देश में पानी, पत्थर और लकड़ी होगा वही देश विकास कर सकता है| किसान, नौजवान और व्यापारी को बढ़ावा दिए बिना इस देश का विकास नहीं हो सकता|

दोपहर 3.55 बजे : यह बिल समस्या का समाधान नहीं

सीपीएम के मोहम्मद सलीम ने लोकसभा में नागरिकता बिल पर बोलते हुए कहा कि यह बिल समस्या का समाधान नहीं है बल्कि आप नई समस्या पैदा कर रहे हैं| धर्म और भाषा के आधार पर लोगों को बांटना बंद करो|  आज जब युवा नौकरी की मांग कर रहे हैं तब ये नागरिकता ठीक करने की बात कर रहे हैं|

दोपहर 3.40 बजे : हमारे ही खून के लोगों का उत्पीड़न हो रहा है

नागरिकता संशोधन बिल पर शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि हमारे ही खून के लोगों का उत्पीड़न हो रहा है और अब किस हद तक यह उत्पीड़न हो रहा है इसका भी पता लगाना चाहिए| यदि हम इन धर्मों के लोगों की रक्षा करनी चाहिए और अगर ऐसा भी नहीं कर पाए तो क्या फायदा|

दोपहर 3.32 बजे : दिनभर के लिए स्थगित राज्यसभा की कार्यवाही

सदन के भीतर सपा समेत विपक्षी दलों के सांसद सीबीआई के मुद्दे पर वेल में आकर नारेबाजी कर रहे हैं| उपसभापति ने कहा कि विपक्षी नेताओं और सरकार के साथ हुई बैठक के बाद ही इस बिल पर चर्चा हो रही है| उन्होंने कहा कि आप सभी को इस चर्चा में हिस्सा लेना चाहिए| हंगामा थमते न देख उपसभापति ने राज्यसभा की कार्यावाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी है|

दोपहर 3.30 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही फिर शुरू हुई

दोपहर 3.18 बजे : नागरिकता संशोधन बिल पर बोले बीजेडी सांसद

बीजेडी के सांसद भर्तृहरि महताब ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर कहा, “जेपीसी में इस बिल पर सहमति बनाने की कोशिश की गई| पाकिस्तान से आए शरणार्थियों को नागरिकता देने की बात 2009 में भाजपा ने अपने घोषणापत्र में की थी, लेकिन तब यूपीए की सरकार वापस सत्ता में आ गई| पड़ोसी देशों के हिन्दू और बौद्ध अल्पसंख्यकों के पास कोई विकल्प नहीं है जबकि ईसाई समुदाय के लोगों के लिए विकल्प है|”

दोपहर 3.07 बजे : 5 बजे होगी 10% आरक्षण पर बहस

लोकसभा में सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण पर  बहस शाम 5 बजे तक के लिए टल गई है|

दोपहर 3.06 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही 3.30 तक के लिए स्थगित

दोपहर 3.05 बजे : राज्यसभा में फिर हंगामा

उपसभापति ने हंगामा कर रहे सांसदों से अपनी सीट पर वापस जाने की अपील की| उन्होंने कहा कि सदन में कुछ काम नहीं हो पाया है लेकिन हंगामा कर रहे सांसद अब भी वेल में खड़े होकर हंगामा कर रहे हैं|

दोपहर 3.02 बजे : केंद्रीय स्वास्थ्य का बयान 

राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने उच्च सदन में कहा कि अध्यादेश की जगह लेने के लिए नेशनल मेडिकल काउंसिल संशोधन बिल पारित होना है, यह कहते हुए उन्होंने बिल सदन में पेश कर दिया| लेकिन सपा के सांसद सीबीआई के मामले पर फिर से सदन की वेल में आकर हंगामा कर रहे हैं| उपसभापति की आदेश के बाद बिल पर चर्चा शुरू हो गई है| अध्यादेश की जगह लेने के लिए नेशनल मेडिकल काउंसिल संशोधन बिल पारित होना है, यह कहते हुए उन्होंने बिल सदन में पेश कर दिया|

दोपहर 3.00 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही फिर से शुरू हो गई है|

दोपहर 2.55 बजे : जेपीसी के अध्यक्ष राजेंद्र अग्रवाल की सहमती

जेपीसी के अध्यक्ष राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल पर सहमति से रिपोर्ट बनाने की कोशिश की गई और कुछ संशोधनों को भी मंजूर किया गया| कमेटी ने पूरी प्रमाणिकता के साथ अपनी रिपोर्ट तैयार की है|

दोपहर 2.45 बजे : प्रधानमंत्री पर उठे सवाल

टीएमसी सांसद ने कहा कि सिल्चर में जाकर प्रधानमंत्री हिन्दुओं को नागरिकता देने की बात करते हैं और आज यहां संसद में आकर नहीं बैठते| दूसरी ओर प्रधानमंत्री NRC के नाम पर लोगों की नागरिकता लेने का काम कर रहे हैं| यह भाजपा की शैतानी राजनीति है और लोगों को बांटकर सियासी फायदा उठाने की कोशिश हो रही है| इस बिल को वापस लिया जाए, यदि ऐसा न हो तो बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए|

दोपहर 2.40 बजे : धर्मनिरपेक्ष बनाने की जरूरत

सौगत राय ने आगे कहा, “ इस बिल में हिन्दू, पारसी, बौद्ध, सिख का जिक्र है, इसके धर्मनिरपेक्ष बनाने की जरूरत है| हमारी मांग थी कि बांग्लादेश शरणार्थियों को इस बिल में शामिल न किया जाए लेकिन कमेटी ने हमारी मांग को ठुकरा दिया| बिल में सिर्फ पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान का नाम क्यों है| इसमें नेपाल और श्रीलंका का भी नाम हो क्योंकि अन्य मुल्कों से आने वाले हर धर्म के लोगों को अपने देश में पनाह देनी चाहिए|

कांग्रेस का लोकसभा से वॉकआउट

दोपहर 2.33 बजे : राजनाथ सिंह को नहीं जानकारी

टीएमसी सांसद सौगत राय ने कहा, “दिल्ली में बैठकर राजनाथ सिंह को यह पता नहीं है कि बिल से पूरे पूर्वोत्तर में, असम में आग जलेगी| हम इस बिल के खिलाफ हैं क्योंकि यह बिल विभाजनकारी है| इस बिल से देश का बंटवारा होगा और हमने कमेटी भी इस बिल का विरोध किया था|”

दोपहर 2.25 बजे : खड़ने ने नागरिकता संशोधन बिल पर कहा

Image result for मल्लिकार्जुन खड़गे

लोकसभा में मल्लिकार्जुन खड़ने ने नागरिकता संशोधन बिल पर कहा कि इस बिल में अभी और कमियां हैं इसलिए दोबारा इस बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए| यह संवैधानिक मामला है और इस पर ठीक ढंग के विचार किया जाना चाहिए| यदि ऐसा नहीं किया जाता तो कांग्रेस इस सदन से वॉकआउट करती है|

दोपहर 2.20 बजे : हर राज्य पर लागू होगा फैसला

गृह मंत्री राजनाथ सिंध ने कहा, “अब प्रवासी भी भारत की नागरिकता पाने के लिए आवेदन कर सकेंगे| अब लंबी अवधि के इंतजार के बिन नागरिकता हासिल की जा सकती है| यह बिल सिर्फ असम के लिए नहीं है बल्कि देश के हर राज्य पर लागू होगा| किसी एक देश के लोगों के लिए यह कानून नहीं है बल्कि देश के अलग-अलग हिस्सों में रह रहे प्रवासी लोगों पर भी लागू होगा|

दोपहर 2.24 बजे : असम का बोझ पूरे देश का बोझ

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, “असम का बोझ पूरे देश का बोझ है और इसके लिए सरकार हम कदम उठाने को तैयार है| अवैध प्रवासियों की मार झेल रहे असम के लिए कई समझौते पहले भी किए जा चुके हैं| समझौते के तहत NRC को भी अपडेट किया जाना था और हमारी सरकार ने इसे तेजी से लागू किया है| इसका ड्राफ्ट तैयार किया जा चुका है और इस काम को पूरा करने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध हैं|

दोपहर 2.07 बजे : लोकसभा में गृह मंत्री का भाषण शुरू

Image result for गृह मंत्री

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर बोलते हुए कहा कि जेपीसी ने भी इस बिल के संबंध में अपनी रिपोर्ट पेश कर दी है| उन्होंने कहा कि जेपी ने विभिन्न स्टेक हॉल्डर्स के साथ बैठक कर अपनी रिपोर्ट सौंपी है|

दोपहर 2.05 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही 2.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है|

दोपहर 2 बजे : राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हो गई|

दोपहर 1.50 बजे : वित्त मंत्री अरुण जेटली पेश करेंगे बिल

लोकसभा में थोड़ी देर बाद सामान्य वर्ग के लिए आरक्षण से जुड़े 124वें संविधान संशोधन बिल पर चर्चा होगी| भाजपा की ओर से चर्चा में वित्त मंत्री अरुण जेटली, निशिकांत दुबे और नंदकुमार चौहान अपने विचार सदन में रखेंगे|

दोपहर 1.15 बजे : शशि थरूर का विरोध

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने डीएनए बिल का विरोध करते हुए कहा कि यह बिल निजता के अधिकार के खिलाफ है| उन्होंने बिल को स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने की मांग की| इसके अलावा टीएमसी सांसद कल्याणा बनर्जी ने भी बिल के प्रावधानों पर सवाल उठाए हैं|

दोपहर 1.10 बजे : आरक्षण बिल पर सपा का समर्थन

दोपहर 1.00 बजे  : 2 बजे से होगी बिल पर चर्चा

सवर्ण आरक्षण बिल पर लोकसभा में  2 बजे से चर्चा होगी|

दोपहर 12.55 बजे : भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर का बयान

आर्थिक आधार पर सवर्णों को 10% आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों ने देश में गरीबों के उत्थान में मदद की है|

Image result for भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर

दोपहर 12.50 बजे : लोकसभा में सवर्णों के आरक्षण का बिल पेश

सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत ने लोकसभा में सवर्णों के 10 फीसदी आरक्षण देने से जुड़ा 124वां संविधान संशोधन बिल पेश किया|

Image result for मंत्री थावर चंद गहलोत

दोपहर 12.33 बजे : केंद्रीय विज्ञान और प्रोद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने बिल पेश किया

केंद्रीय विज्ञान और प्रोद्योगिकी मंत्री हर्ष वर्धन डीएनए टेक्नोलॉजी से जुड़े बिल को लोकसभा में पेश करने जा रहे हैं| उन्होंने बिल का परिचय देते हुए कहा कि यह बिल डीएनए तकनीक के इस्तेमाल से क्रिमिनल जस्टिस डिलिवरी सिस्टम की मदद की जा सकती है|

दोपहर 12.15 बजे : सांसद एन के प्रेमचंद्रन ने ट्रेड यूनियल संशोधन बिल का विरोध किया

सांसद एन के प्रेमचंद्रन ने ट्रेड यूनियल संशोधन बिल का विरोध किया | उन्होंने कहा, इस बिल के खिलाफ देशभर की ट्रेड यूनियन दो दिन की हड़ताल पर चली गई हैं. प्रेमचंद्रन ने कहा कि किसी संस्था को यूनियन मानने के प्रावधान इस बिल में शामिल ही नहीं किए गए हैं

सुबह 11.30 बजे : 124वें संविधान संशोधन बिल की कॉपी

सुबह 11.20 बजे : अर्जुन राम मेघवाल का बयान

राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि आरक्षण से संबंधित संविधान संशोधन बिल अब लोकसभा में है और स्पीकर को तय करना है कि वह कब इसपर चर्चा कराना चाहती हैं|

सुबह 11.08 बजे : राज्यसभा 2 बजे तक स्थगित

राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने बताया कि उन्हें कई सांसदों की ओर से नियम 267 के तहत चर्चा के नोटिस मिले हैं लेकिन किसी भी प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया गया है| इसके बाद हम्गा शुरू हो गया| इस पर सभापति ने सदन की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी|

सुबह 11.00 बजे : लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही शुरू  हुई| – रंजीता 

शीतकालीन सत्र में कांग्रेस का राफेल आलाप

शीतकालीन सत्र में इन मुद्दों पर होगी चर्चा

शीतसत्र पर चुनाव भारी

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.