परिक्रमा समापन समारोह में नहीं पहुंचे

0

मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच की गुटबाजी जगजाहिर है| समय-समय पर यह गुटबाजी सामने भी आ जाती है| दिग्विजयसिंह की नर्मदा परिक्रमा के समापन समारोह में भी ऐसा ही कुछ नज़र आया|

दरअसल, मप्र कांग्रेस में एक बार फिर सिंधिया और दिग्विजयसिंह के बीच मनमुटाव शुरू हो गया है। इस मनमुटाव को दूर करने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने काफी प्रयास किए। उन्होंने नर्मदा यात्रा में उनका झंडा उठाया, उनके पैर छुए परंतु दिग्विजयसिंह अड़े रहे| उनकी सिंधिया विरोधी चालें कम नहीं हुईं। नर्मदा परिक्रमा समाप्त होने से पहले उन्होंने सीएम कैंडिडेट के लिए कमलनाथ का नाम बढ़ा दिया। इस पर सिंधिया ने ‘राजा’ को ‘महाराजा’ वाले तीखे तेवर दिखा दिए। दिग्विजय सिंह की परिक्रमा के समापन समारोह में सारे दिग्गज आए, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया नहीं पहुंचे। यहां तक कि सिंधिया ने ट्विटर पर भी उन्हें बधाई नहीं दी|

नरसिंहपुर के बरमान घाट पर दिग्विजयसिंह ने शक्ति प्रदर्शन किया। कांग्रेस सांसद कमलनाथ और कांतिलाल भूरिया सहित कई बड़े कांग्रेसी नेता इसमें शामिल हुए। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया की अनुपस्थिति चर्चाओं में रही। दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया उसी दिन से कुछ बदले-बदले नजर आ रहे हैं, जब से दिग्विजयसिंह ने सीएम कैंडिडेट के लिए कमलनाथ का नाम आगे बढ़ाया है।

Share.