मिनरल वाटर कंपनियां बंद हों : सीजेआई

0

पानी की गुणवत्ता में सुधार के लिए चल रही सुनवाई में सीजेआई ने कहा कि यदि बोतलबंद पानी बेचने वाली कंपनियों ने पानी की गुणवत्ता में सुधार नहीं किया तो ऐसी कंपनियों को बंद कर देना चाहिए| ऐसा भारत में नहीं बल्कि पाकिस्तान के शीर्ष न्यायालय में हुआ| दरअसल, पाकिस्तान में पानी की गुणवत्ता को लेकर कोर्ट में सुनवाई चल रही थी|

मिनरल वाटर कंपनियों को बंद कर देना चाहिए!

पाकिस्तान  की  सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस साकिब निसार, न्यायमूर्ति एजाजुल अहसन और न्यायमूर्ति फैसल अरबाब की पीठ ने कहा, “कुछ कंपनियों के पास पानी की गुणवत्ता जांचने के लिए विशेषज्ञ और प्रशिक्षित कर्मचारी नहीं हैं, वहीं कुछ अन्य संयंत्रों के पास पर्यावरण संबंधी ज़रूरी मंजूरी नहीं हैं|” दरअसल, एक आधिकारिक रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ संयंत्रों के पास पानी की गुणवत्ता जांचने के लिए विशेषज्ञ या प्रशिक्षित कर्मचारी नहीं हैं, जिससे पानी की गुणवत्ता लगातार गिरती जा रही है| कोर्ट में कहा गया है कि इस मामले में जल्द ही प्रशिक्षित कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएं|

सीजेआई ने कहा, “आयोग की रिपोर्ट की समीक्षा करने के बाद मैं बोतलबंद पानी की कंपनियों पर ताला लगा देना चाहता हूं, जो कंपनियां पानी चुरा रही हैं, उन्हें मुआवजा देना होगा| यदि इन कंपनियों को बंद कर दिया जाए तो कोई प्यास से नहीं मरेगा, बल्कि उनकी जान बचेगी| ऐसा पानी पीने से लोगों की जान को खतरा ही होता है|”

Share.