पाकिस्तान राष्ट्रपति चुनाव: आरिफ अल्वीव के जीतने की संभावना

0

पाकिस्तान में आज राष्ट्रपति चुनाव जारी है| इस चुनाव में सत्तारू़ढ़ ‘पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ’ (पीटीआई) के उम्मीदवार डॉक्टर आरिफ अल्वी का जीतना तय माना जा रहा है| वहीं बिलावल भुट्टो की ‘पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी’ (पीपीपी) ने एतजाज अहसान, पाकिस्तान ‘मुस्लिम-लीग-नवाज’ (पीएमएल-एन) और ‘मुत्तहिदा मजलिस. ए. अमाल’, ‘अवामी नेशनल पार्टी’, ‘पख्तूनवा मिल्ली अवामी पार्टी’ और ‘नेशनल पार्टी’ ने ‘जमीयत उलमा-ए-इस्लाम’ के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान भी राष्ट्रपति बनने की इस रेस में शामिल हैं|

दंत चिकित्सा से सियायत के बाद राजनीति में कदम रखने वाले डॉ. आरिफ अल्वी का जितना इसीलिए भी तय माना जा रहा है क्योंकि वे प्रधानमंत्री इमरान खान के ख़ास हैं और उन्ही के कहने पर राजनीति में आए हैं| विशेषज्ञों का कहना है कि विपक्ष मिलकर अल्वी को कड़ी चुनौती दे सकता था लेकिन वे विफल रहे| पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज’ (पीएमएल-एन) और ‘मुत्तहिदा मजलिस-ए-अमाल को पसंद नहीं आया था, इन दलों ने रहमान का समर्थन किया है|

आठ सितंबर हो रहा है कार्यकाल ख़त्म

पाकिस्तान के मौजूदा राष्ट्रपति ममनून हुसैन का कार्यकाल आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है| राष्ट्रपति चुनाव के लिए नेशनल असेंबली और चारों प्रांतीय विधानसभाओं में मतदान केंद्र बनाए गए हैं| मुख्य चुनाव आयुक्त सरदार रजा खान रिटर्निग अधिकारी की भूमिका में रहेंगे|

पाकिस्तान में ऐसे चुना जाता है राष्ट्रपति

पाकिस्तान राष्ट्रपति चुनाव में संसद के सदस्य एक वोट देते हैं और प्रांतीय असेंबलियों के सदस्यों के मत की गणना एक प्रक्रिया के जरिये की जाती है| चारों प्रांतीय असेंबलियों को उनकी जनसंख्या के आधार पर एकसमान वोट का अधिकार दिया गया है| वहीं सबसे छोटी असेंबली बलूचिस्तान के सभी 65 सदस्यों के पास एक-एक वोट देने का अधिकार है| वहां के सबसे अधिक सदस्यों वाली असेंबली पंजाब हैं, जिसके सदस्यों के वोट को एक वोट का छठवां हिस्सा गिना जाता है|

Share.